कासगंज तिहरा हत्याकांड :पुलिस हिरासत में दस लोग, अखिलेश ने सरकार को घेरा ​
कासगंज तिहरा हत्याकांड :पुलिस हिरासत में दस लोग, अखिलेश ने सरकार को घेरा ​
क्राइम

कासगंज तिहरा हत्याकांड :पुलिस हिरासत में दस लोग, अखिलेश ने सरकार को घेरा ​

news

-परिवार का आरोप क्षेत्रीय विधायक और पुलिस की संदिग्धता -पुलिस उपमहानिरीक्षक ने किया निरीक्षण आरोपितों को नहीं जायेगा बख्शा कासगंज, 27 जुलाई (हि.स.)। जनपद के सोरों कोतवाली क्षेत्र में रविवार की रात को 24 अज्ञात हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। इसमें एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गयी, जबकि दो लोग गंभीर रुप से घायल है। इस मामले में सोमवार को पुलिस उपमहानिरीक्षक ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। देर रात से ही पुलिस आरोपितों की दबिश में है। अब तक दस लोगों को हिरासत में लिया गया हैं। इस हत्याकांड में क्षेत्रीय विधायक और पुलिस की अनदेखी का आरोप लगा हैं। यह है पूरा मामला सोरों कोतवाली क्षेत्र के गांव होडलपुर की ग्राम प्रधान सत्यवती के ससुर राजपाल उर्फ बाबा पूर्व प्रधान हैं। गांव के बाहर उनकी बिल्डिंग मैटेरियल की दुकान है। रविवार की रात को पूर्व प्रधान का बेटा भूपेंद्र उर्फ रुद्र (25) भाई प्रेम सिंह (55) और उनका बेटा राधाचरण (27) दूसरा भाई प्रमोद और परिवार के ही गुड्डू दुकान से वापस आ रहे थे। इसी दौरान करीब 24 लोगों ने उन्हें घेर कर फायरिंग शुरू कर दी। इससे पांच लोगों को गोली लग गई। इसमें भूपेंद्र, प्रेम सिंह और राधाचरन की मौके पर ही मौत हो गई। प्रमोद व गुड्डू घायल है, जिन्हें इलाज के लिए अलीगढ़ भेजा गया है। घटना की जांच में पता चला है कि आपसी रंजिश में यह वारदात हुई है। गांव में हो रही चर्चा के मुताबिक बीते वर्ष 2019 की 28 जून को भागीरथी गुफा के निकट हुए दोहरे हत्याकांड से इस मामले को जोड़ा जा रहा है। गांव में तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए पीएसी व भारी पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। पकड़े गए दस आरोपित, डीआईजी ने किया निरीक्षण अलीगढ़ परिक्षेत्र के डीआईजी दीपक रतन जनपद में पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले घटनास्थल का जायजा लिया। पीड़ित परिजनों से बातचीत की। परिवार ने सोरों कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रिपुदमन सिंह एवं क्षेत्रीय विधायक देवेंद्र राजपूत पर अनदेखी का आरोप लगाया है। डीआईजी ने बताया कि इस मामले में अभी तक दस आरोपितों को हिरासत में ले लिया गया, पूछताछ की जा रही है। उन्होंने कहा कि परिजनों द्वारा जो भी तथ्य प्रकाश में लाए गए हैं। उन पर पूरी पारदर्शिता के साथ कार्य किया जाएगा। आरोपितों एवं संदिग्धों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। सोमवार को आगरा के एडीजी जोन के पहुंचने की जानकारी प्राप्त हुई है। जो तिहरे हत्याकांड को लेकर स्थानीय पुलिस की अपडेट पर समीक्षा करेंगे। साथ ही पीड़ित परिवारों के समक्ष पहुंचकर उनसे बातचीत भी करेंगे। अखिलेश ने सरकार को घेरा कासगंज तिहरे हत्याकांड को लेकर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार को घेरा। उन्होंने सोमवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि कासगंज जिले में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्याओं से प्रदेश दहल गया है। आपराधिक घटनाओं को देखकर लगता है कि प्रदेश की बागडोर अब भाजपा सरकार के हाथों से निकलकर बदमाशों के हाथों में पहुंच गई है। हिन्दुस्थान समाचार/पुष्पेन्द्र/दीपक/राजेश-hindusthansamachar.in