कालना सामूहिक दुष्कर्म : वारदात के वक्त पहरा दे रही थी दूसरी महिला, पीड़िता का बयान भी भ्रामक
क्राइम

कालना सामूहिक दुष्कर्म : वारदात के वक्त पहरा दे रही थी दूसरी महिला, पीड़िता का बयान भी भ्रामक

news

कोलकाता, 15 अक्टूबर (हि.स.)। बंगाल के पूर्व बर्द्धमान जिले के कालना में 22 वर्षीय आदिवासी महिला से सामूहिक दुष्कर्म मामले में चौकाने वाला खुलासा हुआ है। पता चला है कि लड़की के साथ जब सामूहिक दुष्कर्म हो रहा था तब एक महिला और एक अन्य शख्स पहरा दे रहे थे। जिले के पुलिस अधीक्षक भास्कर मुखर्जी ने बताया कि हमने पीड़िता के आरोपों के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है। एक आदिवासी युवक को गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि अन्य लोगों की तलाश जारी है। पुलिस ने बताया कि पीड़िता अपने ससुराल वालों के साथ रह रही थी। वह मंगलवार रात तकरीबन 10:30 बजे बाहर गई थी। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पीड़िता ने कहा है कि उसने घर के बाहर कुछ रोशनी देखी तो वह देखने के लिए गई। लेकिन जैसे ही वापस लौटी, कुछ लोगों ने उसपर पीछे से हमला कर दिया। उसे खेत में ले गए, जहां पर दो व्यक्तियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता के अनुसार, एक महिला समेत वहां पर चार लोग मौजूद थे। बदमाशों के चेहरे ढके होने की वजह से पीड़िता उनकी पहचान नहीं कर सकी। लेकिन बाद में पुलिस ने जांच करते हुए एक युवक को गिरफ्तार कर लिया। उसका नाम दकतर हेम्ब्रम है, जिसकी उम्र 24 साल है। इसके बाद, रात में लगभग 3 बजे पीड़िता किसी तरह अपने घर पहुंच सकी, जहां से उसे गांववालों द्वारा अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। जब यह घटना हुई, तब उसका पति घर पर मौजूद नहीं था। पीड़िता की सास ने कहा कि उसने बताया है कि वह किसी का भी चेहरा नहीं देख सकी, क्योंकि रात हो चुकी थी और आरोपियों के चेहरे ढके हुए थे। लेकिन उसने यह बताया है कि पूरे गैंग में एक महिला भी थी। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/मधुप-hindusthansamachar.in