एसओजी ने सौंपे थे क्रिकेट सटोरिये, पुलिस ने जुआ खेलने के आरोप में किया चालान
एसओजी ने सौंपे थे क्रिकेट सटोरिये, पुलिस ने जुआ खेलने के आरोप में किया चालान
क्राइम

एसओजी ने सौंपे थे क्रिकेट सटोरिये, पुलिस ने जुआ खेलने के आरोप में किया चालान

news

हापुड़, 05 सितम्बर (हि.स.)। एसओजी द्वारा शुक्रवार को पकड़े गए चार क्रिकेट सटोरियों में से तीन का कोतवाली पुलिस ने जुआ खेलने के आरोप में चालान किया है। एक आरोपी को छोड़ दिया गया। पुलिस के अनुसार जुआ खेलने वाले नौ आरोपी फरार होने में सफल रहे। पकड़े गए आरोपियों से 1 लाख 15 हजार रुपये, पांच मोबाइल फोन और ताश की गड्डी बरामद हुई। यह मामला अब नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। लोगों का कहना है कि एसओजी द्वारा बंदी बनाए गए चार आरोपियों में से पुलिस ने केवल तीन आरोपियों को ही न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया है, चौथे आरोपी को छोड़ दिया गया। एसओजी ने छापा मारकर जब चारों आरोपियों को सट्टा खेलते पकड़ा था तो पुलिस उन्हें जुआ खेलते हुए पकड़ा क्यों बता रही है। लोग आशंका जता रहे हैं कि कहीं पर्दे के पीछे कोई सटोरियों और पुलिस के पीछे कोई अन्य खेल तो नहीं चल रहा है। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को एसओजी ने नगर में कई मकानों पर छापा मारकर क्रिकेट मैच पर सट्टा लगाने के 12 आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। पूछताछ के बाद एसओजी टीम ने चार लोगों को सट्टा खेलने के आरोप बंदी बना कर कानूनी कार्रवाई करने के लिए कोतवाली पुलिस को सौंप दिया था। शनिवार को पुलिस ने सट्टा खेलने के आरोप में पकड़े गए तीन आरोपियों को रेलवे मार्ग स्थित मोहल्ला कलक्टरगंज के एक मकान में जुआ खेलते हुए पकड़ा दर्शा कर उनका चालान कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया। पुलिस ने आरोपियों से 1 लाख 15 हजार रुपये, पांच मोबाइल फोन और ताश की गड्डी बरामद करने का दावा किया है। हिन्दुस्थान समाचार/ विनम्र व्रत त्यागी / रामानुज-hindusthansamachar.in