एक्सिस बैंक के बाहर लूट का खुलासा, तीन गिरफ्तार
एक्सिस बैंक के बाहर लूट का खुलासा, तीन गिरफ्तार
क्राइम

एक्सिस बैंक के बाहर लूट का खुलासा, तीन गिरफ्तार

news

उदयपुर, 16 सितम्बर (हि.स.)। दो दिन पहले उदयपुर शहर के पंचवटी क्षेत्र में स्थित एक्सिस बैंक के बाहर लूट की नीयत से एक कम्पनी के कार्मिक पर चाकू से हमले और वारदात में कार्मिक की मौत के मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को नामजद कर गिरफ्तार कर लिया है। मामले में यह सामने आया है कि तीनों युवकों ने पैसों की तंगी के चलते इस वारदात की योजना बनाई। वारदात से पहले दो-तीन बार मारे गए कार्मिक की रैकी भी की जो उदयपुर के सविना क्षेत्र स्थित उसके कार्यालय से पंचवटी स्थित बैंक तक नकद जमा कराने नियमित आता था। हालांकि, कार्मिक ने हिम्मत दिखाते हुए पैसों से भरा बैग नहीं छोड़ा। बैग में 30 लाख 300 रुपये थे। पुलिस के अनुसार मामले में दिनेश उर्फ पिक्की पुत्र गणेशलाल मेघवाल (24) निवासी नागदा रेस्टोरेंट वाली गली यूनिवरसिटी रोड, नवीन उर्फ नानू नाथ पुत्र रोशन नाथ (22) निवासी रोशन टेंट हाउस कालका माता रोड व प्रशांत पुत्र प्रदीप सूद (29) निवासी गणेश घाटी पुरोहितों की हवेली को गिरफ्तार किया गया है। गौरतलब है कि सोमवार 14 सितम्बर 2020 की सुबह हाथीपोल थाना क्षेत्र के अंतर्गत पंचवटी स्थित एक्सिस बैंक में नकदी जमा कराने आए अमित सिंह पुत्र इजेन्द्र सिंह सांखला निवासी तीतरड़ी उदयपुर नकद जमा कराने आया था। बैंक के बाहर ही बदमाशों ने लूट की नीयत से हमला किया। उसे चाकू के घाव लगे और वह बुरी तरह घायल हो गया। लेकिन, उसने बैग नहीं छोड़ा और बचते हुए वह बैंक परिसर में घुस गया। बैग में 30 लाख 300 रुपये थे। घायल अमित को देख बैंक में भी हडक़म्प मच गया। बैंक परिसर में जगह-जगह खून गिरा। सूचना पर पहुंची हाथीपोल थाना पुलिस ने उसे राजकीय एमबी अस्पताल पहुंचाया गया जहां शाम को उसने दम तोड़ दिया। अमित राइटर सेफ गार्ड कम्पनी (फ्लिप कार्ट) में काम करता था और कम्पनी का कलेक्शन बैंक में जमा कराने आया था। पुलिस अधीक्षक कैलाशचंद्र विश्नोई ने बुधवार शाम यहां पुलिस लाइन में वारदाता का खुलासा करते हुए बताया कि वारदात के बाद सवीना सौ फीट स्थित फ्लिप कार्ट कम्पनी के कार्यालय से लेकर बैंक तक कई सीसीटीवी के फुटेज खंगाले गए और मोटरसाइकिल के सम्बंध में भी विभिन्न शो-रूम से जानकारी जुटाई गई। अनुसंधान में शक के घेरे में आए दिनेश और नवीन को हिरासत में लेकर सख्त पूछताछ की गई तो उन्होंने वारदात कबूलने के साथ तीसरे साथी की भी पहचान बताई। वारदात में काम में ली गई मोटरसाइकिल आरोपित दिनेश अपने मित्र से मांग कर लाया था। आरोपितों ने यह पुलिस पूछताछ में बताया कि वे तीन-चार सप्ताह से अमित पर नजर रख रहे थे। एक-दो बार लूट का प्लान बनाया लेकिन बैंक के पास भीड़-भाड़ होने से वारदात नहीं कर पाए। घटना के दौरान नवीन मोटरसाइकिल चला रहा था, दिनेश बीच में और प्रशांत आखिर में बैठा था। प्रशांत के पास बैग था जिसमें दो चाकू रखे हुए थे। हिन्दुस्थान समाचार/सुनीता कौशल / ईश्वर-hindusthansamachar.in