इविवि हिन्दी विभागाध्यक्ष से लाखों की धोखाधड़ी में एक और गिरफ्तार
इविवि हिन्दी विभागाध्यक्ष से लाखों की धोखाधड़ी में एक और गिरफ्तार
क्राइम

इविवि हिन्दी विभागाध्यक्ष से लाखों की धोखाधड़ी में एक और गिरफ्तार

news

प्रयागराज,15अक्टूबर (हि.स.)। क्राइम ब्रांच ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय हिन्दी विभागाध्यक्ष से 75 लाख की वर्ष 2017 में हुई धोखाधड़ी मामले में वांछित चल रहे आरोपित राहुल पाल को गिरफ्तार करके गुरूवार को जेल भेज दिया। गौरतलब है कि जार्जटाउन थाने में इविवि के हिन्दी विभागाध्यक्ष शैल पाण्डेय ने 8 मार्च 2017 को आईटीएक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें बताया था कि एस.बी.इन्योरेन्स ब्रोकर प्राइवेट लिमिटिड दिल्ली द्वारा विभिन्न बीमा पालिसियों के नाम पर तथा दिल्ली में फ्लैट दिलाने के नाम पर विभिन्न खातों में आरटीजीएस व एनईएफटी द्वारा लगभग 75.5 लाख रूपए ट्रांसफर करवा दिया। जिसमें से कुछ पालिसी इनके लड़के विवेक पाण्डेय आईआरएस के नाम थी। संदेह होने पर पैसा वापस न करने पर उक्त लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। इसकी विवेचना क्राइम ब्रांच के पास आ गई। विवेचना से एस.बी.ब्रोकर में काम करने वाले नितिन गौड़, मंगल पाल और राजीव शुक्ला के नाम प्रकाश में आए तथा इनके विभिन्न खातों में वादिनी द्वारा रूपया ट्रांसफर किया गया। उपरोक्त तीनों को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया। तब इनके द्वारा 75.5 रूपया वादिनी का वापस कर दिया गया। शेष रूपया अजीत पाल व राहुल पाल नामक व्यक्तियों के खाते में गया था। जिसमें राहुल पाल के खाते में नौ लाख रूपया ट्रांसफर किया गया था, अजीत पाल व राहुल पाल एक पता तश्दीक होने पर नोटिस भेजकर गुरूवार को तलब किया गया। गिरफ्तार आरोपित राहुल आज बयान दर्ज कराने आया तो उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ राम बहादुर/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in