आरबीआई का फर्जी अधिकारी सात दिन के रिमांड पर
क्राइम

आरबीआई का फर्जी अधिकारी सात दिन के रिमांड पर

news

जोधपुर, 12 सितम्बर (हि.स.)। महानगर की बासनी पुलिस ने आरबीआई के फर्जी अधिकारी को कोर्ट में पेशकर सात दिन के रिमांड पर लिया है। उससे पूछताछ में कई वारदातें खुल सकती है। उसने निजी इंश्योरेंस कम्पनी से बकाया क्लेम की राशि दिलाने का झांसा देकर करीब नौ लाख रुपए ऐंठे थे। बासनी थानाधिकारी दिलीप खदाव ने बताया कि गोवर्धनलाल सोनी ने 7 जुलाई 2017 को बासनी थाने में ठगी का मामला दर्ज कराया था। आरोप था कि आरबीआई का फर्जी अधिकारी बनकर एक व्यक्ति ने उसे कॉल किया था। सोनी को रिलायंस इंश्योरेंस कम्पनी से बीमा क्लेम की बड़ी राशि दिलाने का झांसा दिया। उसने 42 हजार रुपये राशि जमा कराने को कहा। झांसे में आकर सोनी ने राशि बैंक खाते में जमा करा दी। शातिर ठगों ने उससे अलग-अलग बैंक खातों में 8 लाख 97 हजार 340 रुपए जमा करवा लिए। इसके बाद सभी के मोबाइल नम्बर बंद हो गए। साथ ही रुपए निकालकर खाते भी बंद करा दिए गए। पुलिस भी ठगों तक नहीं पहुंच सकी। पुलिस कमिश्नर जोस मोहन के निर्देश पर जांच साइबर सैल के एसआई दिनेश डांगी को सौंपी गई। तकनीकी पहलुओं से जांच के बाद बैंक खाते से मूलत: दक्षिण पश्चिम दिल्ली हाल पंजाब के मोहाली में सदर खरड़ थानान्तर्गत सनी व्यूह डीसूमाजा निवासी जितेन्द्र सूरी का सुराग मिला। उसके पंजाब के मोहाली में होने की सूचना पर एसआई जेठाराम, हेड कांस्टेबल ईश्वर सिंह व कांस्टेबल दलाराम मोहाली से जितेन्द्र सूरी को पकडक़र जोधपुर लाए। उसे अदालत में पेश कर सात दिन के रिमांड पर लिया गया है। उससे गिरोह में शामिल अन्य ठगों व ऐंठी गई राशि बरामद करने के संबंध में पूछताछ की जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश/संदीप-hindusthansamachar.in