आगरा: नौ वर्षीय बालक के हत्यारे को पुलिस ने मुठभेड़ में दबोचा
आगरा: नौ वर्षीय बालक के हत्यारे को पुलिस ने मुठभेड़ में दबोचा
क्राइम

आगरा: नौ वर्षीय बालक के हत्यारे को पुलिस ने मुठभेड़ में दबोचा

news

-पकड़े जाने की डर से जूते के फीते कसा बालक गला आगरा, 12 सितम्बर (हि.स.) | थाना एत्मादपुर के गांव धाैर्रा में नौ वर्षीय बालक को अगवा कर उसकी हत्या करने वाले अपराधी को शनिवार की सुबह पुलिस ने गांव में मुठभेड़ के दौरान पकड़ा है। अपराधी के पैर में गोली लगी गई है। इस बीच उसका साथी अरमान भागने में सफल रहा। धौर्रा निवासी रघुनाथ सिंह यादव का नौ वर्षीय बेटा उपदेश उर्फ भुल्ला बीते मंगलवार को लापता हो गया था। बेटे के गुमशुदगी की रिपोर्ट एत्मादपुर थाना में की थी और पड़ोसी वाहिद और आयूब पर हत्या का शक जाहिर किया था। लेकिन थाना पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया। उसके दूसरे ही दिन सुबह लापता उपदेश का शव घर के पास ही बाड़े में मिला। बेटे को अगवाकर हत्या को लेकर परिवार और ग्रामीणों ने पुलिस लापरवाही को लेकर हंगामा किया। उन्होंने इंस्पेक्टर एत्मादपुर सलीम खान की कार्य प्रणाली पर सवाल उठाया। बताया कि इंस्पेक्टर ने वाहिद को पूछताछ करने के बाद थाने से छोड़ दिया था, जिसके बाद उन लोगों ने उनके बेटे की हत्या कर दी। इसके बाद एसएसपी बबलू कुमार ने इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर कर दिया और आरोपितों की धरपकड़ के लिए टीम को लगाया। शनिवार को पुलिस ने वाहिद को मुठभेड़ में दबोच लिया। वाहिद ने पूछताछ में अपना जुर्म स्वीकार कर बताया कि उसे रुपयों की जरूरत थी। इसी वजह से उसने उपदेश के अपहरण की साजिश रची। इसमें उसका दोस्त अरमान व अन्य लोग शामिल थे। बताया कि मंगलवार को वह चॉकलेट देने के बहाने बच्चे को उठाया और उसे बाड़े की ओर ले जाने लगा। वह बच्चे को बेहोश करने की कोशिश कर रहा था, तभी उपदेश ने शोर मचाना शुरु कर दिया। इस बीच उसे लगा कि कही शोर मचाने पर लोग इकट्ठा न हो जाये और इसकी डर से उसने जूते के फीते से ही बालक की गला घोटकर हत्या कर दी। एसएसपी ने बताया कि बच्चे की हत्या में शामिल अन्य आरोपितों की धरपकड़ के लिए अभियान चलाया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार / संजीव/दीपक-hindusthansamachar.in