अस्पताल का हाल बेहाल
क्राइम

अस्पताल का हाल बेहाल

news

मुंबई,13 सितम्बर (हि. स.)।बोईसर के सरकारी अस्पताल का काम-काज 1946 में बनी एक इमारत में चल रहा है। करीब 74 वर्षो पहले बनी यह इमारत अब पूरी तरह जर्जर हो चुकी है। जिससे यह इमारत कभी भी यहां आने वाले मरीजो के लिए जानलेवा बन सकती है। सार्वजनिक बांधकाम विभाग ने इस संबंध में जिला स्वास्थ्य अधीक्षक को सूचित कर दिया है। जर्जर हुई इमारत में चल रहे बोईसर के सरकारी अस्पताल में रोजाना करीब 250 लोग उपचार के लिए आते है। अस्पताल में तीन डॉक्टर और 15 अन्य स्वास्थ्यकर्मी कार्यरत है।अस्पताल पिछले लंबे समय से क्षतिग्रस्त भवन में संचालित है। जिसके कारण स्टाफ को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। खास बात यह है कि प्रशासन द्वारा इस भवन को डिस्टमेंटल भी घोषित किया जा चुका है, लेकिन न तो भवन का मेंटीनेंस किया जा रहा है और न ही नए भवन का निर्माण शुरू हो रहा है। ऐसे में स्टाफ को सबसे अधिक परेशानी वर्षाकाल में आ रही है। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है, कि अस्पताल को दूसरी जगह पर शिप्ट करने की प्रक्रिया जारी है। हिन्दुस्थान समाचार/योगेन्द्र-hindusthansamachar.in