अवैध पिस्टल एवं कारतूस रखने वाले आरोपित को भेजा जेल
क्राइम

अवैध पिस्टल एवं कारतूस रखने वाले आरोपित को भेजा जेल

news

बड़वानी, 22 सितम्बर (हि.स.)। बड़वानी के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट अमूल मंडलोई ने मंगलवार को अपने फैसले में अवैध पिस्टल एवं कारतूस के साथ गिरफ्तार आरोपित को पुलिस रिमाण्ड के पश्चात जेल भेजने का आदेश दिया है। इस प्रकरण में अभियोजन की ओर से पैरवी अभियोजन अधिकारी अकरम मंसूरी द्वारा द्वारा की गई। अभियोजन मीडिया प्रभारी कीर्ति चौहान ने बताया गया कि पुलिस ने अवैध रूप से पिस्टल व कारतूस रखने वाले आरोपित बिन्दू सिंग पुत्र सत्यवीर सिंह जाट निवासी गाडरवास हरियाणा को पुलिस रिमांड की अवधि समाप्त होने पर मंगलवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत किया था, जहां से उसे जेल भेजने की कार्यवाही की गई। उल्लेखनीय है कि पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर उक्त आरोपित को सेंधवा से इंदौर जा रही कार में अवैध हथियार ले जाते हुए एबी रोड स्थित घोलानिया फाटा बरूफटक के पास नाकेबंदी कर गिरफ्तार किया था। इस दौरान एक आरोपित अंधेरा का फायदा उठाकर भाग गया था, जिस पर पुलिस ने आरोपित को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर पुलिस रिमाण्ड प्राप्त किया था। अवैध रूप से गौवंश परिवहन करने वाले आरोपित पुलिस रिमाण्ड पर वहीं, जिले के राजपुर स्थित प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट निर्भय कुमार गरवा ने मंगलवार को अवैध रूप से गौवंश का परिवहन करने के आरोपित धर्मा उर्फ धरमराज पुत्रा मेघवाल निवासी अन्टाली खेजड़ी थाना शम्भूगढ़ जिला भिलवाड़ा, हेमराज पुत्र माधुलाल निवासी कानिया थाना गुलाबपुरा जिला भिलवाड़ा राजस्थान को मप्र गौवंश प्रतिषेध अधिनियम 2004 की धारा 4,6,9 एवं पशुओं के प्रति क्रूरता का निवारण अधिनियम 1960 की धारा 11(घ) एवं धारा 420, 467, 468 भादवि के तहत पूछताछ के लिए तीन दिन की पुलिस रिमाण्ड पर पुलिस को सौंपा है। अभियोजन की ओर से पैरवी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी श्याम परमार द्वारा की गई। अभियोजन मीडिया प्रभारी कीर्ति चौहान ने बताया कि घटना गत 20 सितम्बर की है, जब पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर आरटीओ बैरियर बालसमुद पर एक ट्रक में क्रूरतापूर्वक रस्सियों से बांधकर ले जा रहे 16 गौवंश को जब्त कर उक्त आरोपितों के विरूद्ध प्रकरण न्यायालय में पेश किया था। अवैध शराब बेचने वाले आरोति को न्यायालय उठने तक की सजा और जुर्माना इसी तरह राजपुर के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट निर्भय कुमार गरवा ने मंगलवार को पारित अपने फैसले में अवैध शराब रखने के आरोपित रेवाराम पुत्र ईरभान निवासी ग्राम कुसमरी तलावपुरा को आबकारी अधिनियम की धारा 34(1) में न्यायालय उठने तक की सजा एवं 1200 रुपये जुर्माने से दण्डित किया है। अभियोजन की ओर से पैरवी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी श्याम परमार द्वारा की गई। अभियोजन मीडिया प्रभारी कीर्ति चौहान ने बताया कि घटना गत 12 सितम्बर की है जब पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर उक्त आरोपित को 10 लीटर कच्ची शराब के साथ गिरफ्तार किया था। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/राजू-hindusthansamachar.in