अंधे कत्ल का खुलासाः पिता ने बहू-जमाई के साथ मिलकर की बेटे की हत्या
अंधे कत्ल का खुलासाः पिता ने बहू-जमाई के साथ मिलकर की बेटे की हत्या
क्राइम

अंधे कत्ल का खुलासाः पिता ने बहू-जमाई के साथ मिलकर की बेटे की हत्या

news

राजगढ़, 31 जुलाई (हि.स.)। छापीहेड़ा थाना पुलिस टीम ने ग्राम धुंआखेड़ी में दो दिन पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए आरोपित पिता, जीजा और मृतक की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने पूछताछ के बाद आरोपितों को शुक्रवार को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजा। थाना प्रभारी राकेश दामले ने शुक्रवार को बताया कि 29 जुलाई को ग्राम धुंआखेड़ी के चौकीदार रामबाबू भिलाला ने सूचना दी, रामबगस दांगी के मकान के सामने गांव का ही सियाराम (36) पुत्र देवनारायण दांगी मृतअवस्था में मिला है। पुलिस ने मौके से शव को कब्जे में लेकर मर्ग कायम किया और प्रथम दृष्टया में हत्या होना मानकर अज्ञात के खिलाफ धारा 302 के तहत प्रकरण दर्ज कर पड़ताल शुरु की। मौके पर मृतक के जूते नहीं मिलने पर पुलिस ने छानबीन शुरु की, जो तलाशी पर घर में ही भूसा के ढ़ेर में मिले। पुलिस ने मृतक के पिता देवनारायण दांगी से सख्ती बरतते हुए पूछताछ की तो उसने बताया कि बेटा सियाराम छह-सात माह पहले गांव की लड़की को भगा कर ले गया था और वह उज्जैन में रहने लगा था, लेकिन कुछ दिन से वह गांव आकर पैसे की मांग करता और लड़की को घर में रखने की जिद्द करने लगा था। इस बात से परेशान होकर जमाई मांगीलाल दांगी और बहू भूरीबाई के साथ मिलकर बेटे सियाराम को सोते में कीटनाशक दवा पिलाई और हाथ-पैर बांधकर उसका साफी से गला दबा दिया। आरोपित मौत के बाद उसके शव को घसीट कर बाहर ले गए और रामबगस दांगी के घर के सामने डालकर भाग गए। पुलिस ने मामले में तीनों आरोपित मृतक के पिता,जीजा और पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने पूछताछ के बाद आरोपितों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजा। हिन्दुस्थान समाचार / मनोज पाठक-hindusthansamachar.in