अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के छह सदस्य गिरफ्तार
अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के छह सदस्य गिरफ्तार
क्राइम

अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के छह सदस्य गिरफ्तार

news

मीरजापुर, 23 जुलाई (हि.स.)। हलिया पुलिस व स्वाट की संयुक्त टीम ने अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के छह सदस्यों को बंजारी कला गांव से गिरफ्तार कर लिया। जिसमें पांच अभियुक्त प्रयागराज व एक मध्य प्रदेश का निवासी है। अभियुक्तों की निशानदेही पर टीम ने उनके पास से चोरी की दस बाइक बरामद की। साथ ही चार तमंचा व चार कारतूस बरामद हुआ। अभियुक्त जिले के अलावा प्रयागराज व मध्य प्रदेश से बाइक चोरी कर बेचने का काम करते थे। गुरुवार पुलिस लाइन स्थित मनोरंजन कक्ष में एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने प्रेसवार्ता कर मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि हलिया थाना प्रभारी अमित सिंह व स्वाट की संयुक्त टीम गड़बड़ा पुलिया पर मौजूद थी। सूचना मिली कि बंजारी कला गांव श्रीकृष्ण शरण सिंह माध्यमिक विद्यालय में दो बाइक पर सवार छह लोग आपस में बाइक चुराने व बेचने की बात कर रहे हैं। सूचना पर पहुंची टीम ने घेराबंदी कर युवकों को धर दबोचा। पुलिस ने दोनों बाइक के बारे में पूंछतांछ की तो पता चला वह चोरी की थी। अभियुक्त सतीश कुमार शुक्ला निवासी सोन्हौरी थाना सुहागी जिला रीवां मध्य प्रदेश व प्रयागराज के कोरांव थाना क्षेत्र के विसरी गांव निवासी जितेंद्र कोल, दिनेश कुमार, अनुज दुबे, ओम पांडेय, आशीष कुमार बिंद के पास से चार तमंचा, जिंदा कारतूस व दो आधार कार्ड बरामद हुआ। अभियुक्त जितेन्द्र कोल व अनुज दुबे ने दोनों बाइक अन्य साथियों के साथ कोरांव बाजार गांधी चौराहा महुली प्रयागराज से चुराया था। ये चोरी के बाद बाइक का नंबर प्लेट बदल देते थे। अभियुक्तों की निशानदेही पर सिरावल कोरांव निवासी अनुज दुबे के नहर के पास मड़ई से बेचने के लिए रखी चोरी की आठ बाइक बरामद की। सभी वाहन जिले के अलावा प्रयागराज व मध्य प्रदेश के विभिन्न स्थानों से चुराकर रखे थे। पुलिस ने अभियुक्तों के खिलाफ मामला दर्ज कर जेल भेज दिया। चार अभियुक्तों के खिलाफ कई मामले हैं दर्ज अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के चार अभियुक्तों के खिलाफ जिले के अलावा प्रयागराज व मध्य प्रदेश के विभिन्न थानों में चोरी व आर्म्स एक्ट के तहत मामले दर्ज हैं। अभियुक्तों ने प्रयागराज से मीरजापुर व मध्य प्रदेश तक गिरोह बना रखा था। अभियुक्त जितेंद्र के खिलाफ जिले व प्रयागराज में कुल पांच मामले दर्ज हैं। जबकि आशीष पर तीन, दिनेश व सतीश पर एक-एक मामले दर्ज हैं। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in