कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए धरना समाप्त करें शाहीन बाग में बैठी बहनें : शाहनवाज हुसैन
news

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए धरना समाप्त करें शाहीन बाग में बैठी बहनें : शाहनवाज हुसैन

news

अजीत पाठक नई दिल्ली, 17 मार्च (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं से अपील की है कि वह अपना धरना समाप्त करें। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए शाहीन बाग में बैठी बहनों को धरना समाप्त करना चाहिए। शाहनवाज ने मंगलवार को एक वीडियो संदेश जारी कर यह अपील की। ट्विटर पर जारी इस वीडियो संदेश में उन्होंने कहा, ‘शाहीन बाग में जो बहनें बैठी हैं उनसे मेरी अपील है कि आपकी जिंदगी महत्वपूर्ण है। कोरोना वायरस एक बड़ा खतरा है आपको अपना धरना बंद करना चाहिए। सीएए किसी की नागरिकता लेने वाला नहीं है।’ उन्होंने कहा कि इस बात को गृहमंत्री अमित शाह ने संसद में कहा और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी माना कि ये किसी की नागरिकता लेने वाला कानून नहीं है। भाजपा नेता ने शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं से कहा, ‘जो लोग आपके मंच पर जाकर बड़ी-बड़ी बातें करते हैं उन्होंने भी माना कि सीएए किसी की नागरिकता लेने वाला कानून नहीं है। इसलिए आपको धरना समाप्त करना चाहिए और कोई फिक्र नहीं करनी चाहिए।’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कहा है कि जो भारत की मिट्टी के मुसलमान हैं, जिनके पुरखे यहीं के हैं उनको सीएए से डरने की जरूरत नही है। शाहनवाज ने कहा, ‘मेरी आपसे अपील है कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए आपको धरने को तुरंत समाप्त करना चाहिए। जहां भी इस तरह का कोई धरना हो रहा हो उसको समाप्त करना चाहिए। उनको अपनी जिंदगी का ख्याल रखना चाहिए, यही सरकार की और हम सबकी अपील है।’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘कोरोना वायरस का खतरा पूरे देश और दुनिया पर है। इसको रोकने के लिए सभी देश अपने स्तर से हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत में भी कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूरे देश के लोगों को कैसे बचाया जाए उसकी कोशिश कर रहे हैं। यहां तक का दक्षिण एशिया क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) देशों को भी इस संक्रामक रोग से निपटने में मदद की पेशकश की है। उन्होंने कहा कि एक स्थान पर ज्यादा लोग इकट्ठा न हो इसका प्रयास किया जा रहा है।’ उल्लेखनीय है कि सीएए के विरोध में शाहीन बाग में पिछले 86 दिन से धरना जारी है। सुप्रीम कोर्ट के वार्ताकारों ने इस धरने को किसी अन्यत्र स्थान पर ले जाने के लिए धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश की थी लेेकिन यह प्रयास सफल नहीं हो सका। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in