सुपारी के पेड़ की छाल से आत्मनिर्भर बने रूबेन रंगलांग की सीएम ने की प्रशंसा

सुपारी के पेड़ की छाल से आत्मनिर्भर बने रूबेन रंगलांग की सीएम ने की प्रशंसा
CM praises Ruben Ranglang for becoming self-sufficient with the bark of betel nut

अगरतला, 28 दिसम्बर (हि.स.)। वोकल फॉर लोकल मंत्र से एक और सफलता ने प्रशंसा अर्जित की है। उत्तरी त्रिपुरा जिला के पनीसागर के नोआगंग निवासी रूबेन रंगलांग सुपारी के पेड़ की छाल का उपयोग करके आत्मनिर्भर बन गए हैं। मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव ने खुशी से सोशल मीडिया पर इस सफलता की कहानी साझा की है। उन्होंने कहा, "मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि पनीसागर के नोआग निवासी रूबेन रंगलांग सुपारी के पेड़ की छाल के साथ पर्यावरण के अनुकूल थाली, कटोरे और चम्मच तैयार कर रहे हैं, जो कि आत्मनिर्भरता के लिए सरकार के आह्वान से प्रेरित है।" उनकी कंपनी शलम इंटरप्राइजेज वर्तमान में 16 मजदूरों को रोजगार देती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके उत्पादों की मांग बढ़ रही है। वह अपनी सीमा और बुनियादी ढांचे का विस्तार करना चाहते हैं। मुख्यमंत्री ने रूबेन रंगलांग के पहल और प्रयासों के लिए बधाई दी है। उन्होंने कहा, मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि रंगलांग अपने व्यवसाय में और समृद्धि करें, साथ ही अपने संस्था में और अधिक लोगों को शामिल करें। उनकी पहल राज्य में कई और लोगों को आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित करेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत बनाने का आह्वान किया है। पहले त्रिपुरा में आत्मनिर्भर बनने की मानसिकता नहीं थी। लेकिन, अभी त्रिपुरा के लोगों में उभर रही नई मानसिकता से मैं वास्तव में अभिभूत हूं। हिन्दुस्थान समाचार /संदीप/ अरविंद-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.