नजरबंदी से रिहा हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला बोले कोरोना वायरस पर प्रशासन के आदेशों का पालन करें Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

नजरबंदी से रिहा हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, बोले: कोरोना वायरस पर प्रशासन के आदेशों का पालन करें

नजरबंदी से रिहा हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, बोले: कोरोना वायरस पर प्रशासन के आदेशों का पालन करें

नजरबंदी से रिहा हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, बोले: कोरोना वायरस पर प्रशासन के आदेशों का पालन करें श्रीनगर, 24 मार्च (हि.स.)। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से पीएसए हटाकर मंगलवार दोपहर बाद उन्हें नजरबंदी से रिहा कर दिया गया। श्रीनगर स्थित सब जेल से घर लौटे उमर अब्दुल्ला ने मीडिया तथा वहां मौजूद लोगों को

संबोधित करते हुए कहा कि यह समय पूरी दूनिया जिस महामारी से जूझ रही है, उससे जंग लड़ने का समय है। प्रशासन के आदेशों का उल्लंघन कर आज हम यहां जो जमा हुए हैं, यह ठीक नहीं है। हमें सरकार के आदेशों का पालन करते हुए इस बीमारी को जड़ से समाप्त करना है। उन्होंने कहा कि सब जेल में मैंने सोचा था कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 समाप्त किए जाने, जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट देने के केंद्र सरकार के फैसले तथा उसके बाद यहां की आवाम को पेश आई मुशिकलों के बारे में बहुत कुछ बोलूंगा, लेकिन अभी यह सही समय नहीं है। इस बारे में बाद में आपके साथ खुलकर बात करुंगा। इस समय पूरी दूनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है। इस बारे में प्रशासन के आदेशों का हमें पालन करना चाहिए। इस दौरान उमर ने सरकार से महबूबा मुफ्ती और देश की अन्य जेलों में बंद कश्मीरियों को इस बीमारी के फैलाव को देखते हुए छोड़ने की भी अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को देखते हुए प्रशासन को थ्रीजी और 4जी इंटरनेट को बहाल करना चाहिए ताकि संवाद संभव हो सके। उल्लेखनीय है कि नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला को 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर से धारा 370 समाप्त किए जाने के बाद एहतियात के तौर पर हिरासत में ले लिया गया था। इसके बाद फरवरी में उन पर पीएसए लागू कर श्रीनगर में बनी उप जेल में रखा गया था। हिन्दुस्थान समाचार/बलवान/बच्चन
... क्लिक »

hindusthansamachar.in

अन्य सम्बन्धित समाचार