सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को रद्द करे केंद्र सरकार : कांग्रेस

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को रद्द करे केंद्र सरकार : कांग्रेस
central-government-cancels-central-vista-project-congress

रायपुर, 13 मई (हि.स.)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की संवेदनशीलता ने कोरोनाकाल में निर्माण कार्यों की जगह जनता के प्रति अपनी प्राथमिकता को फिर से साबित करते हुए राजधर्म का पालन किया है। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी वरिष्ठ प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने कहा कि संकटकाल के इस दौर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सक्रियता नीतिगत निर्णय के चलते छत्तीसगढ़ संक्रमण के दूसरे दौर से बार बाहर निकल रहा है। केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ सरकार से सीख लेकर सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को रद्द करे। कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि नए रायपुर के निर्माण कार्यो को रद्द करने का निर्णय ले कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना के संकट के समय अपनी प्राथमिकता बता दी कि उनके लिए राज्य की जनता के लिए स्वास्थ सुविधा जुटाना ज्यादा महत्वपूर्ण है । प्रवक्ता तिवारी ने कहा कि प्रदेश में बड़े निर्माण कार्यों पर राज्य सरकार ने तत्काल रोक लगायी है, नये रायपुर में नया राजभवन, मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा भवन, मंत्रीआवास, अधिकारियों के आवास, सर्किट हाउस निर्माण पर भी रोक लगायी है। साथ ही नवा रायपुर में जारी सभी बड़े निर्माण कार्यों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई गयी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर अलग-अलग विभागों से आदेश जारी किये गये हैं। पूर्ववर्ती रमन सरकार ने नयी राजधानी में भवनों सड़को गार्डन आदि के विकास के नाम पर 14 हजार करोड़ खर्च कर दिया था, मगर राज्य का अपना राजभवन, विधानसभा, मुख्यमंत्री, मंत्री आवास जैसे जरूरी भवनों की चिंता नहीं की। प्रवक्ता ने कहा कि देश के वर्तमान हालातो से गैर जरूरी दिल्ली के 20 हज़ार करोड़ के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर की कोई आवस्यकता नही थी, कि संकट के समय इसको प्राथमिकता दी जाय। बावजूद इसके भाजपाइयों ने नये रायपुर के निर्माणाधीन सरकारी आवासो पर सवाल खड़े किये। संकटकाल को देखते हुये छत्तीसगढ़ भूपेश बघेल सरकार ने तो निर्माण कार्यो पर रोक लगा दी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी क्या 20 हज़ार करोड़ के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर रोक लगाएंगे।जनता जानना चाहती है, और इसका जवाब भाजपाइयों को समूचे देश में देना होगा। हिन्दुस्थान समाचार /केशव शर्मा

अन्य खबरें

No stories found.