विश्व बैंक ने 2022 में पूर्वी एशिया प्रशांत क्षेत्र में 5 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया

 विश्व बैंक ने 2022 में पूर्वी एशिया प्रशांत क्षेत्र में 5 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया
world-bank-forecasts-5-percent-growth-in-east-asia-pacific-region-in-2022

वाशिंगटन, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। विश्व बैंक ने कहा है कि पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र के विकासशील देश 2022 में पांच प्रतिशत की वृद्धि हासिल कर सकते हैं। विश्व बैंक का कहना है कि 2022 में कोविड-19 महामारी के फिर से शुरू होने, कठिन वित्तीय स्थितियों और रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच इस क्षेत्र के विकासशील देशों की ओर से पांच प्रतिशत की वृद्धि हासिल करने का अनुमान है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने अपने नए जारी पूर्वी एशिया और प्रशांत आर्थिक अपडेट में वैश्विक ऋणदाता के हवाले से कहा, यूक्रेन में युद्ध और रूस पर प्रतिबंधों से उत्पन्न झटके या बाधाएं वस्तुओं की आपूर्ति को बाधित कर रहे हैं, वित्तीय तनाव बढ़ा रहे हैं और वैश्विक विकास को प्रभावित कर रहे हैं। पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र के लिए विश्व बैंक की उपाध्यक्ष मैनुएला वी. फेरो ने कहा, जिस तरह पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र की अर्थव्यवस्थाएं महामारी से प्रेरित झटके से उबर ही रही थीं, इसी बीच यूक्रेन में युद्ध विकास की गति पर दबाव डाल रहा है। उन्होंने कहा, इस क्षेत्र के बड़े पैमाने पर मजबूत बुनियादी सिद्धांतों और बेहतर नीतियों को इन तूफानों का सामना करने में मदद करनी चाहिए। रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी मुद्रास्फीति (महंगाई) में वृद्धि अनुमानित वित्तीय तंगी को तेज कर सकती है, शायद अमेरिका में समय पर, लेकिन कई पूर्वी एशिया और प्रशांत देशों में यह बहुत जल्दी हो सकता है, जहां रिकवरी अभी अपूर्ण है। पूंजी बहिर्वाह (कैपिटल आउटफ्लो) का जोखिम, जो कुछ देशों की मुद्राओं पर दबाव डाल सकता है, समय से पहले वित्तीय तंगी को प्रेरित कर सकता है। विश्व बैंक ने कहा कि विकासशील पूर्वी एशिया और प्रशांत देशों में समग्र आर्थिक विकास 2022 में 5 प्रतिशत तक धीमा होने का अनुमान है, जो अक्टूबर में उम्मीद से 0.4 प्रतिशत कम है। क्षेत्र में विकास दर 4 फीसदी तक धीमी हो सकती है। जोखिमों को कम करने और अवसरों को हासिल करने के लिए, विश्व बैंक ने सरकारों से रिकवरी और विकास के लिए राजकोषीय नीति की दक्षता बढ़ाने और वैश्विक वित्तीय मजबूती से जोखिमों को कम करने के लिए मैक्रोप्रूडेंशियल नीतियों को मजबूत करने का आग्रह किया। इसने नीति निर्माताओं से वैश्विक व्यापार परि²श्य में बदलाव का लाभ उठाने और प्रौद्योगिकी के प्रसार को प्रोत्साहित करने के लिए वस्तुओं और विशेष रूप से अभी भी संरक्षित सेवा क्षेत्रों में व्यापार से संबंधित नीतियों में सुधार करने का आह्वान किया है। --आईएएनएस एकेके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.