up-to-30-increase-in-domestic-airfares-flights-to-operate-with-80-capacity-by-31-march
up-to-30-increase-in-domestic-airfares-flights-to-operate-with-80-capacity-by-31-march
बाज़ार

घरेलू विमान किराए में 30% तक बढ़ोतरी, 31 मार्च तक 80% की क्षमता के साथ संचालित होंगी उड़ानें

news

- विमान किराये की निचली व ऊपरी सीमा में 10-30 फीसदी तक बढ़ोतरी - संशोधित किराए 31 मार्च या अगले आदेश तक लागू रहेंगे नई दिल्ली, 11 फरवरी ( हि.स)। घरेलू हवाई यात्रा के लिए अब आपको 30 फीसदी तक ज्यादा खर्च करना होगा। सरकार ने अलग-अलग रूटों के लिए न्यूनतम और उच्चतम किराए में वृद्धि का ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही एयरलाइन कंपनियों पर प्री-कोविड डोमेस्टिक लेवल के मुकाबले अधिकतम 80% क्षमता के साथ उड़ानें संचालित करने की लगाई गई सीमा को भी 31 मार्च 2021 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। न्यूनतम किराए में 10% और अधिकतम किराए में 30% की बढ़ोतरी की गई है। मंत्रालय के इस आदेश के बाद 40 मिनट से कम उड़ान समय वाली यात्रा के लिए फ्लाइट का न्यूनतम किराया अब 2,200 रुपये कर दिया गया है, जो पहले 2,000 रुपये था। इसी अवधि के लिए अब विमान कंपनियां यात्रियों से अधिकतम 7,800 रुपये वसूल कर सकेंगी, जो सीमा पहले 6,000 रुपये तक की थी। वहीं, 40-60 मिनट अवधि वाली फ्लाइट के लिए यात्रियों को कम से कम 2,800 रुपये और अधिकतम 9,800 रुपये देने होंगे। पहले यह सीमा 2,500-7,500 रुपये थी। एक घंटे से अधिक और 90 मिनट यानी डेढ़ घंटे तक की यात्रा के लिए अब यात्रियों को 3,300-11,700 रुपये तक अदा करने होंगे। दिल्ली-मुंबई रूट पर इकोनॉमी क्लास में अब एक तरफ का किराया 3,900-13,000 रुपए की ब्रेकेट में होगा, जबकि पहले यह 3,500-10,000 रुपए के बीच था। इसमें एयरपोर्ट का यूजर डेवलपमेंट शुल्क, यात्री सुरक्षा शुल्क (घरेलू मार्ग पर 150 रुपए) और जीएसटी शामिल नहीं हैं। उल्लेखनीय है कि नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यह कहा है कि घरेलू विमानों में यात्रियों की अधिकतम संख्या विमान की कुल क्षमता के 80 फीसदी से ज्यादा नहीं होगी। यह फैसला भी इसी साल 31 मार्च या अगले आदेश तक लागू रहेगा। हिन्दुस्थान समाचार/कुसुम-hindusthansamachar.in