पहली तिमाही में टाटा मोटर्स को 8,443 करोड़ और सन फार्मा को 1,655 करोड़ रुपए का भारी घाटा, दोनों के शेयर बढ़त के साथ बंद

पहली तिमाही में टाटा मोटर्स को 8,443 करोड़ और सन फार्मा को 1,655 करोड़ रुपए का भारी घाटा, दोनों के शेयर बढ़त के साथ बंद
पहली तिमाही में टाटा मोटर्स को 8,443 करोड़ और सन फार्मा को 1,655 करोड़ रुपए का भारी घाटा, दोनों के शेयर बढ़त के साथ बंद

टाटा समूह की कमर्शियल व्हीकल कंपनी टाटा मोटर्स को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 8,443.98 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। इस भारी घाटे का कारण तमाम देशों में लॉकडाउन रहा है। इससे जगुआर लैंड रोवर (जेएलआर) की बिक्री में 42 प्रतिशत की गिरावट आई है। वहीं दूसरी ओर फार्मा कंपनी सन फार्मा को इसी अवधि में 1,655 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। एक साल पहले जून तिमाही में 3,679 करोड़ का था घाटा टाटा मोटर्स कंपनी ने शुक्रवार को रिजल्ट जारी किया। इसके मुताबिक एक साल पहले समान तिमाही में कंपनी को 3,679.66 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। जबकि चौथी तिमाही यानी मार्च में 9.,863.75 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। कंपनी का रेवेन्यू जून तिमाही में 31,983 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले समान तिमाही में यह 61,467 करोड़ रुपए था। रिटेलर और प्लांट बंद होने से हुआ घाटा कंपनी ने बताया कि उसके रेवेन्यू में 48 प्रतिशत की गिरावट आई है। टाटा मोटर्स ने कहा कि जेएलआर सेगमेंट में कमी अस्थाई रूप से रिटेलर और प्लांट के बंद होने से रही है। इससे बिक्री और लाभ दोनों गिरा है। रिटेल बिक्री 74,067 गाड़ियों की रही है। इस सेगमेंट में 42.4 प्रतिशत की गिरावट आई है। हालांकि महीने के आधार पर इसमें सुधार देखा गया है। जेएलआर सेगमेंट रेवेन्यू 2.9 अरब पाउंड रहा है। टैक्स से पहले का घाटा 41.3 करोड़ पाउंड रहा है। कंपनी का शेयर जून तिमाही के दौरान 38 प्रतिशत बढ़ा है। हालांकि इस साल में अब तक यह 44 प्रतिशत का घाटा दे चुका है। कंपनी ने कहा एक्सेप्शनल घाटा उधर सन फार्मा ने भी रिजल्ट जारी किया। कंपनी ने कहा कि उसे 1,655 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। हालांकि यह एक्सेप्शनल घाटा रहा है। एक साल पहले जून तिमाही में कंपनी को 1,387 करोड़ रुपए का लाभ हुआ था। कंपनी ने कहा कि अगर इस एक बार के घाटे को हटा दें तो उसका लाभ 1,449 करोड़ रुपए रहा है। जो सालाना आधार पर 4.5 प्रतिशत बढ़ा है। सन फार्मा के रेवेन्यू में 9.4 प्रतिशत की गिरावट कंपनी का रेवेन्यू 7,585 करोड़ रुपए रहा है। इसमें 9.4 प्रतिशत की गिरावट आई है। एक साल पहले इसी अवधि में यह 8,374 करोड़ रुपए था। कंपनी की दूसरी इकाई तारो की बिक्री 880 करोड़ रुपए रही है। इसमें 27 प्रतिशत की गिरावट दिखी है। एक बार के सेटलमेंट चार्ज को निकाल दें तो कंपनी का शुद्ध लाभ 2.9 करोड़ डॉलर रहा है। इस रिजल्ट के बावजूद कंपनी का शेयर बीएसई पर 5 प्रतिशत बढ़कर 536 रुपए पर कारोबार कर रहा था।-newsindialive.in

अन्य खबरें

No stories found.