राजकोट : कपास की कीमत में 11 साल बाद आया उछाल

राजकोट : कपास की कीमत में 11 साल बाद आया उछाल
rajkot-there-was-a-jump-in-the-price-of-cotton-after-11-years

राजकोट/अहमदाबाद,11 जून (हि.स.)। सौराष्ट्र के किसानों के लिए एक अच्छी खबर है। राजकोट के बीडी मार्केटिंग यार्ड में कपास की कीमत में बढ़ोतरी हुई है। कपास की कीमत 1570 रुपये प्रति टन तक पहुंच गई है। लंबे समय के बाद कपास के अच्छे दाम मिलने से किसान खुश हैं। शुक्रवार को सौराष्ट्र एपीएमसी ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अतुलभाई कामानी ने बताया कि किसानों को कपास की इतनी कीमतें पिछले 11 साल से बाद मिल रही हैं। उन्होंने बताया कि जब शंकरसिंह वाघेला केंद्रीय कपड़ा मंत्री थे, उस समय कपास की कीमत 1,500 रुपये के पार हो गई थी। कपास के कम उत्पादन के साथ-साथ वैश्विक बाजार में बढ़ती मांग के कारण इस साल कपास की कीमतें आसमान छू रही हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल कपास के भाव अच्छे मिल रहे हैं। इससे अगले साल कपास की बुआई बढ़ सकती है। चालू वर्ष में राजकोट समेत सौराष्ट्र में किसानों ने कपास से अधिक मूंगफली की बुवाई हुई है। उल्लेखनीय है कि पिछले तीन वर्ष से कपास की फसल में गुलाबी सुंडी का प्रकोप देखा जा रहा है। जिससे किसानों ने कपास की बुवाई धीरे-धीरे कम कर दी है। वहीं, गुजरात के कुछ इलाकों में पिछले साल बारिश के कारण कपास की फसल खराब हो गई थी। इस साल किसानों को मूंगफली भी अच्छी कमाई दे रही है। मूंगफली की फिलहाल 1,200 रुपये से 1,350 रुपये में नीलामी हो रही है। वहीं, बीडी मार्केटिंग यार्ड में तिल और मुग की भी फसल भी अधिक आ रही है। हिन्दुस्थान समाचार/हर्ष शाह