kat-said-business-community-disappointed-by-delhi-government39s-announcement-on-unlock
kat-said-business-community-disappointed-by-delhi-government39s-announcement-on-unlock
बाज़ार

कैट ने कहा, अनलॉक पर दिल्ली सरकार के ऐलान से व्यापारी समुदाय निराश

news

नई दिल्ली, 28 मई (हि.स.)। राजधानी दिल्ली को 31 मई से धीरे-धीरे अनलॉक करने की केजरीवाल सरकार की घोषणा पर कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने नाराजगी व्यक्त किया है। कैट ने शुक्रवार को कहा कि सरकार ने पहले कंस्ट्रक्शन और फैक्टरियों को खोलने का ऐलान किया है, जिससे दिल्ली के व्यापारियों को बहुत निराशा हुई है। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण को और न बढ़ने देना सिर्फ सरकार ही नहीं, बल्कि व्यापारियों की भी प्राथमिकता है लेकिन बाजारों को न खोले जाने के सरकार के फैसले का कोई औचित्य समझ में नहीं आता। खंडेलवाल ने कहा कि जिन प्रवासी मजदूरों के लिए कंस्ट्रक्शन और फैक्टरियों को पहले खोलने का निणर्य लिया है, उनसे व्यापारियों के यहां वहां से ज्यादा प्रवासी लोग काम करते है। खंडेलवाल ने कहा कि राजधानी दिल्ली में करीब 15 लाख छोटे बड़े व्यापारी लगभग 35 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार देते हैं। उन्होंने कहा कि जो फैक्टरियां माल बनाएंगी, वो बेचेंगी कहां, क्योंकि उनके बनाए माल को व्यापारियों के माध्यम से ही बेचा जाता है। वहीँ, दूसरी ओर निर्माण गतिविधियों एवं फैक्ट्रियों में उत्पादन के लिए बिल्डिंग मटेरियल, बिल्डर हार्डवेयर, मशीनरी, टूल्स, स्पेयर पार्ट्स आदि की आवश्यकता होगी, जबकि इस प्रकार का सामान बेचने वाली दुकानें लॉकडाउन के कारण बंद रहेंगी। उल्लेखनीय है कि कारोबारी संगठन कैट ने 26 मई को दिल्ली के उपराजयपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दिल्ली के व्यापारी संगठनों से बातचीत के बाद एक प्रस्ताव भेजा था, जिसमें सभी सुरक्षा उपायों के साथ 31 मई अथवा 1 जून से बाजार खोलने की मांग की थी। कैट महामंत्री ने बताया कि दिल्ली में दो तरह के बाजार हैं, जिसमें थोक एवं रिटेल शामिल हैं। उन्होंने कहा कि कारोबारियों ने दिल्ली में थोक बाजार सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक और रिटेल बाजार दोपहर 12 बजे से रात्रि 7 बजे तक खोलने की मांग सरकार से की थी। हिन्दुस्थान समाचार/प्रजेश शंकर