मप्र में बांस उद्योग को प्रोत्साहित करने की कवायद

 मप्र में बांस उद्योग को प्रोत्साहित करने की कवायद
exercise-to-encourage-bamboo-industry-in-mp

भोपाल, 7 सितम्बर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश में रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के प्रयास जारी है। इन्हीं कोशिशों के क्रम में बांस उद्योग को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है, इसके लिए अनुदान भी दिया जाएगा। आधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के अनुसार, राज्य में इस वित्तीय वर्ष में विभिन्न क्षेत्रों में बांस उद्योग स्थापित करने के लिए इस वर्ष दो करोड़ 77 लाख 50 हजार रूपए का अनुदान देने का प्रावधान किया गया है। इसके लिए राज्य बांस मिशन ने निजी क्षेत्रों में इच्छुक हितग्राहियों से प्रस्ताव बुलाए गए हैं, जो 30 सितंबर तक जमा किए जा सकते हैं। बताया गया है कि बांस उद्योग लगाने के लिए 10 कार्य क्षेत्र चिन्हित किये गये हैं, इन क्षेत्रों में आने वालों को सरकार की ओर से अनुदान दिया जाएगा। प्रमुख रूप से बांस के ट्रीटमेंट तथा सीजनिंग प्लांट, बांस प्र-संस्करण केन्द्र एवं मूल्य संवर्धन इकाई, बांस कचरा प्रबंधन, अगरबत्ती इकाई, एक्टिवेटेड़ कार्बन प्रोडक्ट, बेम्बो बोर्ड, फ्लोर टाइल्स यूनिट और हाईटेक और बिग नर्सरी के प्रोजेक्ट पर अनुदान दिया जाएगा। गत वित्तीय वर्ष में बांस उद्योग में निजी क्षेत्रों के हितग्राहियों की 16 इकाईयों को मंजूरी दी गई और दो करोड़ तीन लाख रूपए का अनुदान उपलब्ध कराया गया। उल्लेखनीय है कि बांस उद्योगों में रुचि रखने वालों को राज्य बांस मिशन द्वारा प्रोजेक्ट तैयार करने के लिये मार्गदर्शन दिया जाएगा। साथ ही राज्य बांस मिशन, संबंधित बैंक की सहमति के बाद उपलब्ध बजट सीमा में प्रोजेक्ट स्वीकृत करेगा और बैंक के माध्यम से हितग्राही को अनुदान राशि का भुगतान कराया जाएगा। --आईएएनएस एसएनपी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.