Shiv Nanda
Shiv Nanda |MoneyTap
बाज़ार

क्रेडिट कार्ड क्या होता है और क्या फायदे है उसके

सोचिए जब आपके पास कैश न हो और आप एक बड़ी राशि से कुछ सामान खरीदना चाहते हैं। ऐसी स्तिथि में आप क्या करेंगे?

Sunil Bhatt

Credit Card इसका समाधान है। क्रेडिट कार्ड की मदद से आप अपने बैंक खाते में राशि न होने पर भी भुगतान एवं खरीददारी कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड क्या है?

क्रेडिट कार्ड किसी बैंक द्वारा दी गयी आपको एक विशेष प्रकार की सुविधा या लोन है जिससे आप एक निश्चित समय में एक निश्चित राशी तक भुगतान कर सकते हैं और बिना कैश के खरीददारी, बिलों के भुगतान, शॉपिंग आदि कर सकते हैं।आपको एक निश्चित समय में बैंक को यह राशि वापस करनी होती है।

इसे हम मोबाइल पोस्टपेड कनेक्शन की तरह भी समझ सकते हैं। जैसे पोस्टपेड मोबाइल कनेक्शन में महीने भर बात करने की छूट मिल जाती है और महीने के अंतिम में आपको बिल भरना होता है, ठीक उसी प्रकार Credit Card से महीने भर खरीददारी की जा सकती है और महीने के अंतिम में Credit Card की बिलों का भुगतान कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड कैसा होता है?

क्रेडिट कार्ड देखने में बिल्कुल डेबिट कार्ड (ATM card) की तरह होता है। यह सरकारी या प्राइवेट बैंक के द्वारा प्रदान किया जाता है। इसके लिए आपको बैंक में या ऑनलाइन आवेदन करना होता है। कागज़ी दस्तावेज़ों का वेरिफिकेशन होने के बाद Credit Card बन जाता है। यह वीसा, मास्टरकार्ड या रुपे कार्ड में से कोई भी हो सकता है।

क्रेडिट कार्ड की एक लिमिट (limit) या निर्धारित राशि होती है तथा हम किसी किसी खरीदारी के लिए एक निश्चित राशि तक का ही भुगतान इस कार्ड की मदद से कर सकते हैं। Credit Card से महीने भर खरीददारी की जा सकती है और महीने के अंतिम में उसका बिल भर सकते हैं। यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप इस राशि को Lump sum में भुगतान करते हैं या Installment में करते हैं।

क्रेडिट कार्ड कैसे काम करता है?

जब आप क्रेडिट कार्ड के लिए करते हैं तो बैंक आपका क्रेडिट स्कोर चेक करता है जिससे आपकी उधार लेने और चुकाने की क्षमता का अंदाज़ा होता है। अगर आप बैंक से उधार रकम लेने के बाद उसे चुकाने योग्य हैं, तभी बैंक आपको क्रेडिट कार्ड प्रदान करते हैं। आप क्रेडिट कार्ड से राशि खर्च कर वास्तव में कार्ड जारी करने वाले बैंक से रकम उधार लेते हैं, जिसे आपको तय समय में चुकाना पड़ता है। जब आप क्रेडिट कार्ड के जरिए किसी विक्रेता(merchant) को भुगतान करते हैं तो आपके बैंक द्वारा उस मर्चेंट को भुगतान कर दिया जाता है और बैंक का आप पर उधार हो जाता है। जिसे आप बाद में अपने बैंक में जमा कर सकते हैं।

अगर आप समय पर क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं चुकाते तो आपको उस पर जुर्माना भरना पड़ता है और बैंक इसके बदले आप से कुछ ब्याज भी लेता है। बैंक द्वारा क्रेडिट कार्ड पर एक लिमिट तय की जाती है। क्रेडिट कार्ड होल्डर उस लिमिट के हिसाब से ही अपना भुगतान करता है। यह लिमिट मासिक या वार्षिक भी हो सकती है। बैंक आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट का निर्धारण आपके खाते में होने वाले लेनदेन(transactions) के हिसाब से करता है।

क्रेडिट कार्ड के नियम और शर्तें क्या होती हैं?

● जब भी आपका क्रेडिट कार्ड बिल (स्टेटमेंट) आता है उसके अंतर्गत 21 दिन के अंदर अंदर आपको क्रेडिट कार्ड का बिल भुगतान करना पढ़ता हैं।

● अगर समय पर बिल भुगतान नहीं करते है तो, खर्च की गयी पूंजी पर ब्याज और साथ ही पेनल्टी भी भरनी पड़ेगी।

● आप अपने कार्ड से एक लिमिट (Credit card limit) तक ही अपने क्रेडिट कार्ड पर खर्चा कर सकते हैं।

● आपके क्रेडिट स्कोर और आपकी सैलरी पर आपकी क्रेडिट कार्ड लिमिट निर्भर करती है।

● बैंक आपको पूरा credit card bill भरने की बजाय कुछ न्यूनतम राशि का भुगतान करने का विकल्प देती हैं।

● कई बार कार्ड पर आपको वार्षिक फीस देनी होती है। परन्तु अगर आप बैंक से बात करे तो यह फीस माफ़ हो सकती हैं।

क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे हैं?

अगर आपके पास पैसा नहीं भी है तो भी आप क्रेडिट कार्ड की सहयता से खरीददारी कर सकते हैं।यह ही इसका सबसे बढ़ा लाभ हैं। इसके अलावा भी बहुत सारे लाभ हैं, वह इस प्रकार है :

● क्रेडिट कार्ड की मदद से आप कहीं भी भुगतान कर सकते है बिना यह सोचे की आपके बैंक खाते में पैसे है या नहीं।

● आपको हर वक्त पैसा जेब में रखने की ज़रूरत नहीं पड़ती आप क्रेडिट कार्ड से पेट्रोल, खाना, मॉल में शॉपिंग, ऑनलाइन ख़रीददारी, बिल्स भुगतान कर सकते हैं।

Credit card से भुगतान करने पर आपको रिवॉर्ड पॉइंट (reward point) मिलते हैं। आप इन पॉइंट्स का इस्तेमाल कुछ खरीदने या क्रेडिट कार्ड बिल भरने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

● किसी इमरजेंसी में क्रेडिट कार्ड की सहायता से लोन भी ले सकते हैं।

Credit Card की सहायता से आप नकद का भी भुगतान कर सकते हैं।

● क्रेडिट कार्ड की मदद से आप आसानी से शॉपिंग कर सकते है और आपको अच्छा खासा डिस्काउंट (discount) या केशबेक (Cashback) भी मिल जाता हैं।

क्रेडिट कार्ड कैसे मिलता है? क्या दस्तावेज चाहिए?

Credit card के लिए आपको बैंक में आवेदन देना होता है और कुछ दस्तावेजों को देना होता हैं जैसे पैन कार्ड, निवास प्रमाण, आईडी प्रूफ, और पासपोर्ट साइज फोटो।

क्रेडिट कार्ड के लिए कैसे अप्लाई करें

अगर आप credit card बनवाना चाहते हैं तो आपको अपने बैंक जाकर अप्लाई करना होगा। और यदि आप बैंक नहीं जा सकते तो आप घर से ही ऑनलाइन नेट बैंकिंग की मदद से क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको निम्न प्रकार की प्रक्रिया को अपनाना होगा।

चरण 1 - क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करने के लिए फॉर्म में अपनी पूरी डिटेल जैसे कि नाम, एड्रेस, ईमेल आइडी, फोन नंबर इत्यादि भरे।

चरण 2 - बैंक को आइडी प्रूफ के तौर पर वोटर आइडी कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या पासपोर्ट दे।

चरण 3 - बैंक का पूरा नाम, पता तथा खाते का पूरा विवरण दे।

चरण 4 - बैंक को आपका इनकम प्रूफ और इनकम टैक्स रिटर्न दे।

इस निम्न प्रक्रिया को अपनायें और बैंक में credit card के लिए आसानी से अप्लाई करे।

Author Bio:

Shiv Nanda is a financial analyst who currently lives in Bangalore and works with MoneyTap, India's first app-based credit-line. Shiv is a true finance geek, and his friends love that. They always rely on him for advice on their investment choices, budgeting skills, personal financial matters and when they want to get a loan. He has made it his life's mission to help and educate people on various financial topics, so email him your questions at shiv@moneytap.com.