ब्लैकबक ने 67 मिलियन डॉलर जुटाए, भारत से यूनिकॉर्न क्लब में किया प्रवेश

 ब्लैकबक ने 67 मिलियन डॉलर जुटाए, भारत से यूनिकॉर्न क्लब में किया प्रवेश
blackbuck-raises-67-million-enters-unicorn-club-from-india

बेंगलुरू, 22 जुलाई (आईएएनएस)। ऑनलाइन ट्रकिंग प्लेटफॉर्म ब्लैकबक ने घोषणा की है कि उसने ट्राइब कैपिटल, आईएफसी इमजिर्ंग एशिया फंड और वीईएफ के नेतृत्व में 67 मिलियन डॉलर के इक्विटी वित्तपोषण को बंद कर दिया है। इसका मूल्यांकन 1 बिलियन डॉलर हो गया है, इसके साथ ही यह देश का एक और यूनिकॉर्न बन गया है। ब्लैकबक के पास अपने प्लेटफॉर्म पर 700,000 से अधिक ट्रक और 1.2 मिलियन से अधिक ट्रक हैं। सालना लेनदेन में 15 मिलियन से अधिक और वर्तमान में सभी ऑनलाइन ट्रकिंग गतिविधियों के 90 प्रतिशत से अधिक बाजार हिस्सेदारी चला रहे हैं। ब्लैकबक के सह-संस्थापक और सीईओ राजेश याबाजी ने कहा, ब्लैकबक ने ट्रकिंग की फिर से कल्पना करने के सपने के साथ शुरूआत की, इसे 10एक्स सरल और 10एक्स कुशल बनाने के लिए। छह साल हो गए हैं और हम अभी शुरूआत कर रहे हैं। मौजूदा निवेशकों वेलिंगटन मैनेजमेंट, सैंड्स कैपिटल और इंटरनेशनल फाइनेंस कॉरपोरेशन ने भी दौर में भाग लिया। कंपनी के पास एसएमई और हिंदुस्तान यूनिलीवर, रिलायंस, कोका कोला, एशियन पेंट्स, टाटा, वेदांत, एलएंडटी और जिंदल जैसे बड़े कॉरपोरेट सहित 10,000 से अधिक ग्राहक हैं। ट्राइब के सह-संस्थापक और पार्टनर अर्जुन सेठी ने कहा, भारत की आपूर्ति श्रृंखला और रसद उद्योग कागज और पेंसिल से डिजिटल की ओर बढ़ रहा है। उत्पादन और उत्पादकता वृद्धि को मापने की ब्लैकबक की क्षमता ने उद्योग के लिए कम समय-सीमा में लॉजिस्टिक चुनौतियों को सुव्यवस्थित किया है। कंपनी इन फंडों का उपयोग बाजार में और आगे बढ़ने और अपने ग्राहकों के लिए नई सेवा पेशकशों को लॉन्च करने के लिए करेगी। --आईएएनएस एनपी/आरजेएस