डार्क वेब पर क्लबहाउस उपयोगकर्ताओं के 40 लाख फोन नंबर बिक्री के लिए

 डार्क वेब पर क्लबहाउस उपयोगकर्ताओं के 40 लाख फोन नंबर बिक्री के लिए
4-million-phone-numbers-of-clubhouse-users-for-sale-on-dark-web

नई दिल्ली, 24 जुलाई (आईएएनएस)। क्लबहाउस यूजर्स के करीब 40 लाख फोन नंबर कथित तौर पर लीक हो गए हैं और ये डार्क वेब पर बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। लोकप्रिय ऑडियो चैट ऐप का डेटासेट केवल मोबाइल नंबर दिखाता है और कोई अन्य जानकारी नहीं। प्रमुख साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ जितेन जैन ने ट्विटर पर लिखा, क्लबहाउस उपयोगकर्ताओं के 3.8 अरब फोन नंबरों का एक डेटाबेस डार्कनेट पर बिक्री के लिए तैयार है। जैन ने कहा, इसमें उपयोगकर्ता की फोनबुक में सिंक किए गए लोगों की संख्या भी शामिल है। इसलिए संभावना अधिक है कि आप सूचीबद्ध हैं, भले ही आपने क्लबहाउस लॉगिन न किया हो। हालांकि, ऑडियो चैट ऐप ने अभी तक कथित डेटा लीक की पुष्टि नहीं की है। स्वतंत्र सुरक्षा शोधकर्ता राजशेखर राजहरिया के अनुसार, हैकर कथित क्लबहाउस डेटा बेच रहा है, जिसमें बिना नाम के केवल मोबाइल नंबर हैं। राजहरिया ने आईएएनएस से कहा, कोई नाम, फोटो या कोई अन्य विवरण उपलब्ध नहीं है। फोन नंबरों की यह सूची बहुत आसानी से तैयार की जा सकती है। डेटा लीक का दावा फर्जी प्रतीत होता है। इस साल फरवरी में, अमेरिका में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी कि ऐप उपयोगकर्ताओं के चीनी सरकार से जुड़े ऑडियो डेटा को लीक कर सकता है। स्टैनफोर्ड इंटरनेट ऑब्जर्वेटरी (एसआईओ) ने दावा किया कि अगोरा, रीयल-टाइम एंगेजमेंट सॉफ्टवेयर का शंघाई स्थित प्रदाता, क्लबहाउस ऐप को बैक-एंड इंफ्रास्ट्रक्च र की आपूर्ति करता है। हाल ही में, क्लबहाउस ने घोषणा की कि यह अब बीटा से बाहर है और सभी के लिए खुला है। कंपनी ने कहा कि उसने अपने वेटलिस्ट सिस्टम को हटा दिया है, ताकि कोई भी बिना किसी परेशानी के प्लेटफॉर्म से जुड़ सके। कंपनी ने कहा कि उसने मई के मध्य में एंड्रॉइड पर लॉन्च होने के बाद से समुदाय में 1 करोड़ लोगों को जोड़ा है। --आईएएनएस एसजीके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.