1 अगस्त से लागू हो रहे हैं ये बदलाव, आपके लिए जानना है जरूरी
1 अगस्त से लागू हो रहे हैं ये बदलाव, आपके लिए जानना है जरूरी
बाज़ार

1 अगस्त से लागू हो रहे हैं ये बदलाव, आपके लिए जानना है जरूरी

news

Changes from 1st August: जुलाई माह के खत्म होते ही फाइनेंस से जुड़े कुछ कामों की समयसीमा समाप्त हो जाएगी. इनमें कोविड19 लॉकडाउन के समय नियमों में दी गईं ढील शामिल हैं. साथ ही 1 अगस्त से कुछ बदलाव अमल में आ जाएंगे. इन बदलावों में से एक देश में अनलॉक 3 की गाइडलाइंस लागू होना है. आइए जानते हैं 1 अगस्त से देश में क्या-क्या बदलने वाला है… अनलॉक 3 गृह मंत्रालय ने देश में 1 अगस्त से लागू होने जा रहे अनलॉक 3 के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं. इनके तहत COVID-19 कंटेनमेंट जोन्स के बाहर कई अन्य गतिविधियों को इजाजत दे दी गई है. वहीं कंटेनमेंट जोन्स में लॉकडाउन 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया गया है. नए दिशानिर्देशों के तहत देश में अनलॉक 3 में योगा इंस्टीट्यूट, जिम 5 अगस्त से खुल सकेंगे. इस बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय SOP जारी करेगा. हालांकि सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिऐटर, बार, ऑडिटोरियम, मेट्रो, असेंबली हॉल 31 अगस्त तक बंद रहेंगे. इसके अलावा गृह मंत्रालय ने सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखते हुए स्वतंत्रता दिवस समारोह आयोजित करने को अनुमति दे दी है. अनलॉक 3 दिशानिर्देशों के तहत फिलहाल अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा वंदेभारत मिशन के अंतर्गत ही सीमित रहेगी. रात में लोगों की आवाजाही पर से प्रतिबंध हटा लिया गया है. सामाजिक/राजनीतिक/खेलकूद संबंधी/मनोरंजन/शैक्षणिक/सांस्कृतिक/धार्मिक समारोह व अन्य भीड़भाड़ वाले आयोजनों को अभी भी अनुमति नहीं है. स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान भी 31 अगस्त तक बंद रहेंगे. RBL बैंक की सेविंग्स अकाउंट ब्याज दर आरबीएल बैंक ने सेविंग्स अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज में कटौती की है. नई ब्याज दरें 1 अगस्त से प्रभावी हो रही हैं. अब आरबीएल बैंक सेविंग्स अकाउंट में 1 लाख रुपये तक जमा पर 4.75 फीसदी सालाना ब्याज मिलेगा. वहीं, 1-10 लाख रुपये तक की जमा पर 6 फीसदी और 10 लाख से 5 करोड़ रुपये तक की जमा पर 6.75 फीसदी सालाना ब्याज मिलेगा. EPF में घटे हुए योगदान की अवधि समाप्त कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के दायरे में आने वाली ऐसी कंपनियां और उनके कर्मचारी, जिन्हें पीएम गरीब कल्याण पैकेज के तहत सरकार की ओर से योगदान का लाभ नहीं मिल रहा है, उनके मामले में तीन माह मई, जून, जुलाई तक एंप्लॉयर व इंप्लॉई के लिए EPF योगदान 10-10 फीसदी है. 31 जुलाई को यह अवधि समाप्त हो रही है, यानी अगर सरकार की ओर से इस राहत की अवधि बढ़ाने की घोषणा नहीं होती है तो 1 अगस्त से पीएम गरीब कल्याण पैकेज के तहत न आने वाले एंप्लॉयर व इंप्लॉई के लिए EPF योगदान फिर से 12-12 फीसदी हो जाएगा. बदलेंगी LPG की कीमतें हर माह की पहली तारीख को कुकिंग गैस की कीमत में बदलाव होता है. पिछले दो महीने से कीमत में लगातार तेजी आई है. अगस्त में एलपीजी की कीमत बढ़ेगी या घटेगी, यह तो 1 तारीख को ही पता चलेगा. SSY के तहत राहत खत्म कोरोना संकट के बीच सरकार ने एलान किया था कि 25 मार्च से 30 जून 2020 के दौरान जो बच्चियां 10 वर्ष की हो गईं, उनका सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में खाता 31 जुलाई तक खुलवाया जा सकता है. निवेश पर टैक्स छूट CBDT ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए LIC, PPF, NPS जैसी स्कीम्स में निवेश कर टैक्स सेविंग करने की तारीख को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया था. यानी अगर आप इस डेडलाइन तक ऐसी किसी स्कीम में निवेश करते हैं, जिस पर इनकम टैक्स एक्ट के तहत टैक्स छूट मिलती है तो उस निवेश पर आप वित्त वर्ष 2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न में क्लेम कर सकते हैं. CBDT ने 80डी के तहत मेडिक्लेम, 80जी के तहत डोनेशन इन्वेस्टमेंट दिखाने का समय भी 31 जुलाई तक बढ़ाया है. सस्ता हो जाएगा गाड़ी खरीदना नई कार और मोटरसाइकिल खरीदने वालों के लिए 1 अगस्त से कार और टू-व्हीलर इंश्योरेंस से जुड़े नियम बदलने जा रहे हैं. भारतीय बीमा नियामक व विकास प्राधिकरण (इरडा) ने जून में व्हीकल के लिए लॉन्ग टर्म मोटर इंश्योरेंस पैकेज पॉलिसी के नियम को वापस ले लिया था. इस पैकेज में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस+ओन-डैमेज इंश्योरेंस रहता है. 1 अगस्त से कार या टूव्हीलर खरीदते वक्त ‘लॉन्ग-टर्म मोटर इंश्योरेंस पैकेज’ लेने की अनिवार्यता नहीं होगी. 1 अगस्त से नया फोर व्हीलर लेने पर 3 साल और टूव्हीलर लेने पर 5 साल का थर्ड पार्टी कवर लेना जरूरी होगा. वहीं ओन डैमेज कवर के लिए दो विकल्प होंगे. पहला, ग्राहक थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के साथ बंडल में एक साल का ओन डैमेज कवर ले सकता है और दूसरा थर्ड पार्टी व ओन डैमेज के लिए दो अलग—अलग पॉलिसी ले सकता है. पोस्ट ऑफिस RD से जुड़ा नियम पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट (RD) खाताधारकों को राहत प्रदान करते हुए यह फैसला किया गया था कि वे मार्च, अप्रैल, मई और जून 2020 की किस्त आरडी अकाउंट में 31 जुलाई 2020 तक जमा कर सकते हैं. 31 जुलाई तक उन पर कोई रिवाइवल फीस या डिफॉल्ट फीस नहीं लगेगी. अब 1 अगस्त को यह समयसीमा समाप्त होने जा रही है. PPF व SCSS अकाउंट एक्सटेंशन सरकार ने PPF और SCSS अकाउंट को एक्सटेंड कराने की समयसीमा को बढ़ाकर 31 जुलाई 2020 कर दिया था. यानी जो लोग PPF व SCSS अकाउंट को एक्सटेंड कराना चाहते हैं लेकिन अकाउंट की मैच्योरिटी के बाद मिलने वाला एक साल का ग्रेस पीरियड लॉकडाउन में ही खत्म हो गया और वे एक्सटेंशन का फॉर्म जमा नहीं कर पाए थे तो वे इस फॉर्म को 31 जुलाई 2020 तक जमा कर सकते हैं. 1 अगस्त को यह अवधि समाप्त होने जा रही है. कुछ बैंकों में मिनिमम बैलेंस नियमों में बदलाव कुछ बैंकों में सेविंग्स अकाउंट में मिनिमम मंथली बैलेंस को लेकर एक अगस्त से नियम बदलने जा रहे हैं. एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, कोटक महिंद्रा बैंक, आरबीएल बैंक ने एक अगस्त से ट्रांजैक्शन के नियमों में बदलाव करने का फैसला किया है. इनमें से कुछ बैंक कैश निकालने और जमा करने पर फीस वसूलेंगे तो कई मिनिमम बैलेंस बढ़ाने की तैयारी में है. प्रॉडक्ट पर कंट्री ऑफ ओरिजिन ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए 1 अगस्त से प्रॉडक्ट पर उसका कंट्री ऑफ ओरिजिन शो करने का नियम अमल में आ सकता है. कंट्री ऑफ ओरिजिन का अर्थ है कि प्रॉडक्ट कहां बना है. नया नियम भारत या विदेश में पंजीकृत लेकिन भारतीय ग्राहकों को सामान और सेवाएं देने वाले सभी इलेक्ट्रॉनिक रिटेलर्स पर लागू होगा.-newsindialive.in