डिलिस्टिंग की योजना सफल न होने के बाद वेदांता के शेयर 24 प्रतिशत टूटे
डिलिस्टिंग की योजना सफल न होने के बाद वेदांता के शेयर 24 प्रतिशत टूटे
बाज़ार

डिलिस्टिंग की योजना सफल न होने के बाद वेदांता के शेयर 24 प्रतिशत टूटे

news

मुम्बई, 12 अक्टूबर (हि.स.)। अनिल अग्रवाल के स्वामित्व वाली वेदांता के शेयर बाजारों से शेयर हटाने (डिलिस्टिंग) की योजना विफल होने के बाद कारोबारी सप्ताह के पहले दिन सोमवार को 24 प्रतिशत से अधिक टूट गये। कंपनी की अपने शेयर को एक्सचेंजों से हटाने की योजना बड़ी संख्या में अपुष्ट ऑर्डरों की वजह से पूरी नहीं हो पाई। शेयर की नियामक को भेजी सूचना में कपंनी ने कहा कि डिलिस्टिंग नियमनों के तहत उसकी शेयर पुनर्खरीद पेशकश विफल हो गई है। प्रवर्तक वेदांता रिसोर्सेज को कंपनी को एक्सचेंजों से हटाने के लिए जरूरी संख्या में शेयर प्राप्त नहीं हुए हैं। कई अपुष्ट बोलियों तथा तकनीकी गड़बड़ियों की वजह से इसकी यह योजना विफल हुई है । नौ अक्टूबर को कुल 169.73 करोड़ सार्वजनिक शेयरों में से 137.74 करोड़ बीएसई में दिख रहे थे। इन शेयरों को प्रवर्तकों को बिक्री के लिए पेश किया जाना था। उल्लेखनीय है कि बीएसई में कंपनी का शेयर 23 प्रतिशत टूटकर 94 रुपये पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में यह 24.37 प्रतिशत के नुकसान से 92.15 रुपये पर आ गया। हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द-hindusthansamachar.in