आईओसीएल को पहली तिमाही में 47 प्रतिशत का घाटा
आईओसीएल को पहली तिमाही में 47 प्रतिशत का घाटा
बाज़ार

आईओसीएल को पहली तिमाही में 47 प्रतिशत का घाटा

news

नई दिल्ली, 31 जुलाई (हि.स.)। सरकारी तेल एवं गैस कंपनी, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) को वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में शुद्ध लाभ 47 प्रतिशत घटकर 1910.84 करोड़ रुपये रहा। शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजार को भेजी सूचना में आईओसीएल ने कहा कि तिमाही के दौरान उसका एकल शुद्ध लाभ 46.8 प्रतिशत घटकर 1,910.84 करोड़ रुपये यानी 2.08 रुपये प्रति शेयर। वित्त वर्ष 2019 -20 की समान तिमाही में कंपनी का एकल शुद्ध लाभ 3,596.11 करोड़ रुपये यानी 3.92 रुपये प्रति शेयर रहा था। तिमाही के दौरान आईओसी की बिक्री 29 प्रतिशत घटकर 1.52 करोड़ टन रही। तिमाही के दौरान कंपनी की रिफाइनरियों ने 25 प्रतिशत कम यानी 1.29 करोड़ टन कच्चे तेल का प्रसंस्करण किया। कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसे प्रत्येक एक बैरल कच्चे तेल के प्रसंस्करण पर 1.98 डॉलर का घाटा हुआ। जून तिमाही में कंपनी की परिचालन आय घटकर 88,936.54 करोड़ रुपये रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1,50,136.70 करोड़ था। उल्लेखनीय है कि इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड एक फॉर्च्यून 500 कंपनी है जो भारत सरकार की सबसे बडी़ एकीकृत तेल शोधन और विपणन करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कम्पनी है। इंडियन ऑयल को सरकार द्वारा महारत्न का दर्जा प्राप्त है। भारत मे इसका पेट्रोलियम उत्पादों के विपणन मे कुल हिस्सा 47 प्रतिशत और तेल शोधन मे 40 प्रतिशत है। हिन्दुस्थान समाचार/ गोविन्द/सुनीत-hindusthansamachar.in