बीजापुर : ग्रामीणों के धरना-प्रदर्शन से उसूर क्षेत्र में पांच सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले

बीजापुर : ग्रामीणों के धरना-प्रदर्शन से उसूर क्षेत्र में पांच सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले
bijapur-more-than-five-hundred-corona-positive-patients-were-found-in-usoor-area-due-to-protest-by-villagers

बीजापुर, 07 जून (हि.स.)। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले के उसूर तहसील अन्तर्गत तर्रेम क्षेत्र में विगत 25 दिनों से सिलेगर मामले को लेकर ग्रामीणों द्वारा धरना-प्रदर्शन कर भीड़-भाड़ की स्थिति निर्मित किया गया है। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर प्रशासन की समझाइश के बाद भी लोग धरना प्रदर्शन में डटे हुए है। विगत 15 दिनों से उसूर क्षेत्र में पांच सौ से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि की गई है, जबकि धरना प्रदर्शन से पूर्व मात्र 123 कोरोना पॉजिटिव के मामले थे। जिस रफ्तार से केस बढ़ रहे हैं वह चिंता का विषय है। प्राप्त जानकारी के अनुसार तर्रेम क्षेत्र सुकमा जिला के बार्डर पर स्थित है, वहां भी दिनों-दिन कोरोना पॉजिटिव के मामले बढ़ने के कारण आंशिक लाकडाऊन किया गया है। लगातार कोरोना पॉजिटिव के प्रकरण बढऩे की दशा में तहसील उसूर को (कंटेंटमेंट जोन) जोखिम क्षेत्र घोषित किया गया है एवं सम्पूर्ण क्षेत्र हाट-स्पॉट के रूप में तब्दील हो रहा है, जिनमें प्रमुख रुप से छुटवाही, गगनपल्ली, जारपल्ली, नरसापुर, ड़बाका, पुसबाका, रासपल्ली, बुदीचेरू, चिपुरभट्टी, पेगड़ापल्ली आदि गांवों में अधिक मरीज पाए गए हैं। यहां के ग्रामीण धरना-प्रदर्शन में शामिल होने के कारण संक्रमित हुए है। जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के टीम द्वारा लगातार डोर टू डोर सर्वे किया जा रहा है एवं मरीजों को आवश्यक दवाईयां वितरण कर उपचार एवं परामर्श दिया जा रहा है। कोरोना संक्रमण को रोकने प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है। लोगों को सावधानियां बरतने की हिदायत दी गई है। उक्त क्षेत्र में प्रतिबंधात्मक आदेश का पालन करने की समझाइश दी गई है। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे