बड़ी खबरें

किसान-गरीब होंगे खुशहाल, शहरी बदहाल

किसान-गरीब होंगे खुशहाल, शहरी बदहाल

नई दिल्ली   वैश्विक अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता के बीच विकास की गति में तेजी लाने के उद्देश्य से वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुनियादी ढांचे तथा गरीबों किसानों और युवाओं के लिए झोली खोल दी लेकिन संसाधन जुटाने के उनके कुछ कदमों से वेतनभोगी कर्मचारियों को निराशा हाथ लगी है जेटली ने सोमवार को संसद में अपना दूसरा पूर्ण बजट पेश करते हुये सुधारों को आगे बढ़ाने के साथ-साथ सड़क बिजली-पानी जैसी बुनियादी सुविधाओं को विशेष तवज्जो देते हुये ग्रामीण विकास और किसानों की स्थिति बेहतर बनाने पर ध्यान केन्द्रित किया है पिछले कई वर्षों से कृषि विकास दर में जारी गिरावट से चिंतित मोदी सरकार
www.navabharat.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2018. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.