1994 से 2012 बैच के अनुसूचित जाति वर्ग के अवर निरीक्षकों को नहीं दी गई प्रोन्नति : शत्रुघ्न
1994 से 2012 बैच के अनुसूचित जाति वर्ग के अवर निरीक्षकों को नहीं दी गई प्रोन्नति : शत्रुघ्न
news

1994 से 2012 बैच के अनुसूचित जाति वर्ग के अवर निरीक्षकों को नहीं दी गई प्रोन्नति : शत्रुघ्न

news

सरायकेला,13जून(हि.स.)। वर्ष 2012 में अवर निरीक्षक व अन्य पदों में करीब 386 अभ्यर्थीयों की बहाली की गई थी किंतु अनुसूचित जाति वर्ग के अवर निरीक्षकों को पुलिस मुख्यालय द्वारा इतने वर्ष बाद भी प्रोन्नति नहीं दी गई है और उन्हें पुलिस निरीक्षक नहीं बनाया गया है। जो उनके साथ सरासर अन्याय है। उक्त बातें झारखंड क्रांति मंच के केन्द्रीय अध्यक्ष शत्रुघ्न कुमार शत्रु ने एक प्रेस बयान जारी कर कही। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में वरीयता सूची के आधार पर 2012 बैच के 45 अवर निरीक्षकों जिसमें सामान्य, पिछड़ा व अजजा वर्ग को प्रोन्नति देकर पुलिस निरीक्षक बनाया गया था। किंतु पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर अनुसूचित जाति के किसी भी अवर निरीक्षक को प्रोन्नति देकर पुलिस निरीक्षक नहीं बनाया गया। केन्द्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि वरीयता सूची के अनुसार अनारक्षित कोटी के अवर निरीक्षकों का वरीयता क्रमांक 791 के कुल प्राप्तांक अंक से अनुसूचित जाति के सभी अवर निरीक्षकों का प्राप्तांक काफी अधिक होने के बावजुद भी एक साजिश के तहत इन्हें प्रोन्नति से वंचित किया गया है, जो निंदनीय है। उन्होने कहा है कि 1994-95 से लेकर 2012 बैच के अनुसूचित जाति के अवर निरीक्षकों व पुलिस के अन्य पदों पर बहाल कर्मियों के साथ पिछली रघुवर सरकार ने भेदभाव कर अन्याय किया था,जो हेमन्त सरकार में भी जारी है। उन्होंने मांग किया है कि उपरोक्त बैच के अजा संवर्ग के आरक्षी अवर निरीक्षकों व पुलिस जमादार आदि पदों पर लम्बे समय से प्रोन्नति के इंतजार में बैठे लोगों को शीघ्र प्रोन्नति दी जाए ताकि अजा वर्ग के इन पुलिस अवर निरीक्षकों को ससमय प्रोन्नति मिल सके। हिन्दुस्थान संमाचार/ अभय / सबा एकबाल-hindusthansamachar.in