हमर गांव हमर योजना निर्माण के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को मिलेगा पुरस्कार
हमर गांव हमर योजना निर्माण के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को मिलेगा पुरस्कार
news

हमर गांव हमर योजना निर्माण के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को मिलेगा पुरस्कार

news

रायपुर, 15 अक्टूबर (हि.स.)। राज्य शासन के पंचायत संचालनालय द्वारा जनयोजना अभियान 2021-22 के अंतर्गत हमर गांव हमर योजना निर्माण के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों, जनपद पंचायतों और जिला पंचायतों को पुरस्कृत किया जाएगा। योजना निर्माण में अच्छा काम करने वाली श्रेष्ठ 50 ग्राम पंचायतों, पांच जनपद पंचायतों और तीन जिला पंचायतों का चयन इसके लिए किया जाएगा। विभाग द्वारा पुरस्कार के लिए चयनित प्रत्येक ग्राम पंचायत को दस हजार रूपए, प्रत्येक जनपद पंचायत को 25 हजार रूपए और प्रत्येक जिला पंचायत को 50 हजार रूपए के पुरस्कार दिए जाएंगे। पंचायत विभाग के संचालक एस. प्रकाश ने पुरस्कार के लिए निर्धारित मापदंडो और मूल्यांकन प्रक्रिया की जानकारी देते हुए सभी जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को परिपत्र जारी किया है। पंचायत संचालनालय ने परिपत्र में बताया है कि पुरस्कार के लिए ग्राम पंचायतों के कार्यों का मूल्यांकन संबंधित जिला पंचायत द्वारा, जनपद पंचायतों का संबंधित संभागीय कार्यालय द्वारा तथा जिला पंचायत के कार्यों का मूल्यांकन राज्य स्तर पर किया जाएगा। पुरस्कार के लिए दस मापदंड निर्धारित किए गए हैं। इन पर खरा उतरने वाले चयनित ग्राम, जनपद और जिला पंचायतों को कुल सात लाख 75 हजार रूपए के पुरस्कार वितरित किए जाएंगे। विभाग द्वारा इन पुरस्कारों के लिए महिला स्वसहायता समूह द्वारा गरीबी उन्मूलन व आजीविका संवर्धन से संबंधित कार्ययोजना, न्यूनतम पांच सहयोगी विभागों द्वारा जनयोजना बैठक में प्रस्तुतीकरण, जनयोजना अभियान बैठक में लाउड-स्पीकर का उपयोग कर जानकारी देने के वीडियो, महिलाओं की अधिकतम सहभागिता, लो-कॉस्ट नो-कॉस्ट से संबंधित कार्ययोजना, बैठक के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दिशा-निर्देशों के पालन, जीपीपीएफटी टीम द्वारा प्रस्तावित कार्ययोजना की प्रस्तुति, ग्राम पंचायत में सूचना बोर्ड के स्पष्ट प्रकाशन, मिशन अंत्योदय सर्वे के सत्यापन और अभिसरण से संबंधित कार्ययोजना में जीपीडीपी को शामिल करने जैसे मापदंड निर्धारित किए गए हैं। इन बिंदुओं पर अच्छा प्रदर्शन करने वाली पंचायतों को प्राप्त अंकों के आधार पर पुरस्कार के लिए त्रिस्तरीय पंचायतीराज संस्थाओं का चयन किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/गायत्री प्रसाद-hindusthansamachar.in