स्टील प्लांट के विनिवेशीकरण रोकने के लिए आर्थिक नाकेबंदी से सख्त कदम उठाने की जरूरत : रेखचंद जैन
स्टील प्लांट के विनिवेशीकरण रोकने के लिए आर्थिक नाकेबंदी से सख्त कदम उठाने की जरूरत : रेखचंद जैन
news

स्टील प्लांट के विनिवेशीकरण रोकने के लिए आर्थिक नाकेबंदी से सख्त कदम उठाने की जरूरत : रेखचंद जैन

news

नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण के विरोध में हुई सर्वदलीय बैठक जगदलपुर, 22 नवम्बर (हि.स.)। नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण के विरोध में रणनीति बनाने के लिए रविवार को नगरनार में सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया गया । यह सर्वदलीय बैठक यहां काम करने वाले 19 मजदूर यूनियन के संयुक्त ट्रेड यूनियन के सदस्यों ने बुलाई थी। बैठक में स्टील प्लांट के निजीकरण के लिए विरोध की दिशा तय करने के लिए यह बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें वक्ताओं ने अपने विचार रखे, सभी ने नगरनार स्टील प्लांट डी-मर्जर और निजीकरण का विरोध किया। विधायक व संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने नगरनार स्टील प्लांट के विनिवेशीकरण रोकने के लिए बुलाई गई बैठक में केंद्र की मोदी सरकार पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि नगरनार स्टील प्लांट डी-मर्जर के साथ बैलाडीला की खदानों को बेचा जाएगा, इसके लिए आर्थिक नाकेबंदी जैसे कठोर कदम भी उठाए जाने की आवश्यकता है। इस दौरान संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने सांसद दीपक बैज को सर्वदलीय समीति के अध्यक्ष बनाए जाने का प्रस्ताव रखा है। इस बैठक में प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मोहन मरकाम, बस्तर सांसद दीपक बैज, बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल, उपाध्यक्ष विक्रम मांडवी, संसदीय सचिव व विधायक रेखचन्द जैन एवं समस्त वरिष्ठ कांग्रेसी उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/ राकेश पांडे-hindusthansamachar.in