Breaking News

बड़ी खबरें

समस्या केवल तीन तलाक की नहीं

समस्या केवल तीन तलाक की नहीं

महिलाएं तीन तलाक को गैरकानूनी और गुनाह बताकर इसे प्रतिबन्धित करने की मांग करती आ रही हैं। मौलानाओं ने भी तीन तलाक  को बिद्दत बताकर उसे गुनाह $गलत और $कुरान के बाहर का तो बताया लेकिन ये भी कहा कि अगर किसी ने एक बार में तीन तला$क दिया है तो वह तलाक हो गया उसमें पुनर्विचार की गुंजाइश नहीं। ऐसे पति को कानून सख्त सजा दे। खलीफाओं के दौर में उन्हें 50 कोड़े मारने की सजा दी जाती थी। यानी मौलाना तीन तलाक को गलत मानकर कड़ी सजा के भी पक्षधर तो हैं परन्तु उन्होंने ऐसा कोई प्रावधान करने की जहमत नहीं उठाई जिससे महिलाओं पर इसका कहर न टूटे। सच तो यह है कि दशकों से तीन तलाक की मार झेल रही महिलाओं के
www.deshbandhu.co.in
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2018. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.