जिनकी शायरी से कांप गई थी पाकिस्तानी हुकूमत कर दिया था देश बाहर ऐसे थे फैज अहमद Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

जिनकी शायरी से कांप गई थी पाकिस्तानी हुकूमत, कर दिया था देश से बाहर..ऐसे थे फैज अहमद

जिनकी शायरी से कांप गई थी पाकिस्तानी हुकूमत, कर दिया था देश से बाहर..ऐसे थे फैज अहमद

फैज अहमद के जुल्फिकार अली भुट्टो के साथ अच्छे संबंध थे। जब वो विदेश मंत्री बने तो फैज को लंदन से वापस पाकिस्तान लाया गया और कल्चरल एडवाइजर बना दिया गया। 1977 में तत्कालीन आर्मी चीफ जिया उल हक ने पाक में तख्ता पलट किया तो फैज काफी दुखी हुए। उसी समय उन्होंने ‘हम देखेंगे’ नज्म लिखी जो जिया उल हक ... क्लिक »

newsindialive.in

अन्य सम्बन्धित समाचार