राज्य की सुरक्षा के मुददे पर उच्च स्तरीय बैठक आयोजित
राज्य की सुरक्षा के मुददे पर उच्च स्तरीय बैठक आयोजित
news

राज्य की सुरक्षा के मुददे पर उच्च स्तरीय बैठक आयोजित

news

इटानगर, 14 अक्टूबर (हि.स.) अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) डॉ बीडी मिश्रा की अध्यक्षता में बुधवार को राजभवन में एक उच्च स्तरीय सुरक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू, लेफ्टिनेंट जनरल आरपी कलिता (जनरल ऑफिसर कमांडिंग 03 कॉर्प्स, डिमापुर), अरुणाचल प्रदेश पुलिस के महानिदेशक आरपी उपाध्याय, राज्यपाल के आयुक्त डॉ सागर प्रीत हुड्डा, इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (इंटेलिजेंस) एचजीएस धालीवाल, आईटीबीपी के अधिकारी और अनेक पुलिस अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया। बैठक के दौरान राज्य में समग्र अंतर्राष्ट्रीय सीमा सुरक्षा परिदृश्य के बारे में चर्चा की गयी। राज्यपाल ने सशक्त रूप से कहा कि अरुणाचल प्रदेश के प्रत्येक नागरिक और प्रत्येक इंच भूमि की सुरक्षा राज्य की सर्वोच्च प्राथमिकता है। सुरक्षा की भावना को ध्यान में रखते हुए लोगों के बीच इसको लेकर विश्वास बहाली होनी चाहिए। राज्यपाल ने प्रभावी परिणामों के लिए सशस्त्र बलों और राज्य पुलिस के बीच स्वस्थ समन्वय के लिए सलाह दी। उन्होंने सीमा सुरक्षा से संबंधित क्षेत्र के अधिकारियों की जानकारी और नियमित बैठकों को साझा करने पर जोर दिया। राज्यपाल ने रक्षा और सुरक्षा अधिकारियों को विद्रोह के मुद्दे को हल करने के लिए एक तंत्र तैयार करने का सुझाव दिया, जो राज्य के परिधीय क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रीत करे। उन्होंने कोविड-19 महामारी के बारे में लोगों को शिक्षित करने और आम जनता को मास्क पहनने, बार-बार हाथ धोने और सामाजिक दूरी का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए जागरूकता फैलाने का भी आह्वान किया। राज्यपाल ने राज्य सरकार को सलाह दिया कि वे आत्म निर्भार भारत कार्यक्रमों, कौशल विकास और उद्यमिता के प्रति स्थानीय युवाओं को प्रेरित करने के तरीके खोजें। चर्चा में भाग लेते हुए मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार की प्राथमिकताओं को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि लोगों की सुरक्षा और उनकी आजीविका सरकार की मुख्य चिंता रही है और इसे सुनिश्चित करने के लिए सभी उपाय किए जाएंगे। इससे पहले कोर कमांडर और डीजीपी ने बैठक में तिरप, लोंगडिंग और चांगलांग जिलों में मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी दी। अधिकारियों ने बैठक में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (अफ्सपा), 1958 के तहत जिलों में अपने अवलोकन को साझा किए। हिन्दुस्थान समाचार /तागू/ अरविंद-hindusthansamachar.in