राज्यपाल ने चिड़ंग उत्सव की लोगों को दी शुभकामनाएं
राज्यपाल ने चिड़ंग उत्सव की लोगों को दी शुभकामनाएं
news

राज्यपाल ने चिड़ंग उत्सव की लोगों को दी शुभकामनाएं

news

इटानगर, 14 अक्टूबर (हि.स.)। अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) डॉ बीडी मिश्रा ने राज्य के लोगों को चिड़ंग उत्सव के शुभ अवसर पर विशेष रूप से सजोलंग (मिजी) समुदाय के लोगों को अपनी शुभकामनाएं दी है। उन्होंने अपने संदेश में उम्मीद जताई कि त्योहार सभी के लिए अच्छी फसल, समृद्धि और खुशियों की शुरूआत करेगा। राज्यपाल ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश कई स्वदेशी जनजातियों का घर है। उनमें से हर एक में अपनी एक अनूकी संस्कृति और जीवन शैली है। हर जनजाति की अपनी मान्यताएं और प्रथाएं हैं। जिन्हें खुशी से संजोया गया है और सदियों से पीढ़ी दर पीढ़ी इसकी मान्यता चली आ रही है। उन्होंने कहा कि ये त्योहार उनके समृद्ध, भव्य इतिहास और परंपरा की झलक दिखाते हैं, जिसे उन्होंने सावधानीपूर्वक संरक्षित किया है। पिछले साल वेस्ट कामेंग जिला के नफ्रा में चिडंग उत्सव समारोह में भाग लेने के दौरान अपने अनुभव के बारे में राज्यपाल ने कहा कि इस त्योहार के अवसर पर प्रार्थना की जाती है और प्रकृति को खुश करने के लिए अनुष्ठान किए जाते हैं। यह मानव जाति की भलाई और अच्छी फसल का आशीर्वाद लेने के लिए किया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रार्थनाएं बुरी आत्माओं को गांवों में प्रवेश करने से रोकने और लोगों और घरेलू पशुओं पर आने वाली विपदा से बचाने के लिए की जाती है। उन्होंने कहा हमारे स्वदेशी समुदायों ने प्रकृति पूजा की अपनी सदियों पुरानी परंपराओं को जारी रखा है और अपने हरे भरे पर्यावरण को अपने लिए और आने वाली पीढ़ियों के लिए संरक्षित करने की महान प्रथा को बनाए रखा है। इस खुशी के अवसर पर मैं अपने सजोलंग समुदाय को मानव जाति के कल्याण के लिए सर्वशक्तिमान से प्रार्थना करता हूं। राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा कि मैं इन उत्सवों के दौरान कोविड -19 के खिलाफ सभी सुरक्षात्मक प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए हमारे राज्य के प्रत्येक नागरिक से भी अपील करता हूं। हिन्दुस्थान समाचार /तागू/ अरविंद-hindusthansamachar.in