​रविवार को 97 विचाराधीन कैदी छूटने थे 92 छोड़े जा रहे वरिष्ठ जेल अधीक्षक Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

​रविवार को 97 विचाराधीन कैदी छूटने थे, 92 छोड़े जा रहे- वरिष्ठ जेल अधीक्षक

​रविवार को 97 विचाराधीन कैदी छूटने थे, 92 छोड़े जा रहे- वरिष्ठ जेल अधीक्षक

रविवार को 97 विचाराधीन कैदी छूटने थे, 92 छोड़े जा रहे - वरिष्ठ जेल अधीक्षक लखनऊ, 29 मार्च(हि.स.)। लखनऊ जेल के वरिष्ठ जेल अधीक्षक प्रेम नाथ पांडेय ने बताया कि लखनऊ जेल में विचाराधीन कैदियों की लगभग संख्या 500 के आसपास है। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए कैदियों को पैरोल पर छोड़ने के आदेश मिलने शुरु हो गये

है। रविवार को 97 विचाराधीन कैदियों को छोड़ने के आदेश मिले थे। जिसमें से 92 कैदियों को छोड़ा जा रहा है। शेष बचे पांच कैदियों को उनके अन्य मुकदमों की स्थिति को देखते हुए नहीं छोड़ रहे हैं। प्रेम नाथ पांडेय ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि आज की तरह ही प्रतिदिन रिलीज आर्डर अर्थात छोड़ने का आदेश प्राप्त होने पर कैदियों को छोड़ने की प्रक्रिया चलेगी। हर दिन ही कुछ कैदियों को उनके अपराधिक इतिहास के साथ ही चल रहे मुकदमों को देखते हुए रोकना होगा। लखनऊ की जेल बेहद संवेदनशील जेल मानी जाती रही है। संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा, सौरभ मलिक, अनुज गंजा जैसे बड़े अपराधी लखनऊ जेल में बंद है। उन्होंने बताया कि जेल में स्वच्छता कार्य को प्रतिदिन कराया जा रहा है। जेल में किसी प्रकार से कोई कोना बिना स्वच्छता के छूटता नहीं है। वायरस का खतरा तो है ही, इसके लिए बंदीरक्षकों के माध्यम से कैदियों को मुंह ढ़ककर रखने के लिए कहा गया है। हिन्दुस्थान समाचार/शरद/राजेश
... क्लिक »

hindusthansamachar.in