मृतक महिला नक्सली के शव सुपुर्दगी का मामला अटका
मृतक महिला नक्सली के शव सुपुर्दगी का मामला अटका
news

मृतक महिला नक्सली के शव सुपुर्दगी का मामला अटका

news

बीजापुर, 6 अगस्त (हि.स.)। जिला के ग्राम इशुलनार और पुन्नूर के जंगल में बुधवार को मुठभेड़ में मारी गई महिला नक्सली की शिनाख्त उसके परिजनों ने मंगली कुरमस के रूप में किया है। लेकिन अब उसके शव की सुपुर्दगी परिजनों को करने के लिए मामला अटक गया है। मंगली कुरमस पिता सोमा की मां सनके कुरसम बुधवार को शव लेने आई लेकिन उसके पास ना तो आधार कार्ड और राशन कार्ड और ना ही वोटर कार्ड था। पुलिस ने उसे इन कागजातों के पेश होने पर ही शव को सुपूर्द करने की बात कही है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र अंर्तगत ग्राम इशुलनार एवं पुन्नूर के जंगल में डीआरजी, एसटीएफ,कोबरा एवं सीआरपीएफ के जवानों की नक्सलियों के साथ बुधवार को हुई मुठभेड़ में एक मिलिट्री प्लाटून नंबर 11 की महिला नक्सली मारी गई थी। मौके से पुलिस ने हथियार एवं विस्फोटक बरामद कर महिला नक्सली के शव को बुधवार की शाम जिला मुख्यालय पोस्टमार्टम के लिए लाया गया। मिली जानकारी के अनुसार गुरूवार को जिले के ग्राम मनकेली से 60 से अधिक ग्रामीणों के साथ महिला नक्सली मंगली कुरमस के पिता सोमा की मां सनके कुरसम शव लेने आई लेकिन पहचान के लिए उनके पास ना तो आधार कार्ड और राशन कार्ड और ना ही वोटर कार्ड था। पुलिस ने उसे इन कागजातों के पेश होने पर ही शव को सुपूर्द करने की बात कहकर वापस लौटा दिया। पुलिस ने गांव से कागजात लाने की सलाह मारी गई महिला नक्सली मंगली कुरमस के माता-पिता को दी है। पुलिस का कहना है कि पहचान के दस्तावेज प्रस्तुत किए जाने पर ही शव सुपुर्द किया जा सकता है। हिन्दुस्थान समाचार / राकेश पांडे-hindusthansamachar.in