मूडीज की वैश्विक मंदी की चेतावनी
मूडीज की वैश्विक मंदी की चेतावनी
news

मूडीज की वैश्विक मंदी की चेतावनी

news

मूडीज की वैश्विक मंदी की चेतावनी न्यूयार्क, 26 फरवरी (हि.स.)। विश्व की सबसे प्रतिष्ठित तीन रेटिंग एजेंसी में से एक मूडीज इन्वेस्टर सर्विस ने कहा है कि अगर कोरोनो वायरस महामारी बन जाता है तो वैश्विक मंदी की संभावना है। इटली और कोरिया में संक्रमणों के बढ़ने के कारण कोरोनो वायरस के महामारी बनने के आसार बढ़ रहे हैं। मूडीज एनालिटिक्स के मुख्य अर्थशास्त्री मार्क ज़ांडी ने कहा कि कोरोनो वायरस चीनी अर्थव्यवस्था के लिए एक भारी झटका है। इससे अब पूरी वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए खतरा बढ़ रहा है। कोरोना वायरस पहली बार दिसम्बर में चीन के वुहान में पाया गया था। तब से दुनिया भर में हजारों लोगों को कोरोना वायरस ने प्रभावित किया है। कोरोना वायरस वैश्विक अर्थव्यवस्था को कई तरीकों से प्रभावित कर रहा है। चीनी व्यापार, यात्रा और पर्यटन सभी बंद हो गए हैं। दूसरे देशों की एयरलाइंस चीन नहीं जा रही हैं और ज्यादातर क्रूज जहाज एशिया-प्रशांत क्षेत्र की यात्रा रोक रहे हैं। यह प्रमुख पर्यटन स्थलों के लिए एक बड़ी समस्या है। अमेरिका में हर साल लगभग 30 लाख चीनी पर्यटक आते हैं। अमेरिका में चीनी पर्यटक किसी दूसरे विदेशी पर्यटकों की तुलना मे ज्यादा खर्च करते हैं। यूरोप में भी पर्यटन और यात्रा का गंभीर रूप से प्रभावित होना निश्चित है क्योंकि नए संक्रमणों का केंद्र बनकर उभरा इटली, उस महाद्वीप का एक प्रमुख पर्यटन और यात्रा केंद्र है। चीन के बंद कारखाने भी दूसरे देशों के लिए एक समस्या हैं। एप्पल, नाइके और जनरल मोटर्स जैसी कंपनियां चीन की विनिर्माण आपूर्ति श्रृंखला पर पूरी तरह निर्भर हैं। कुछ जरूरी सामानों की कमी के कारण इस बार महंगाई बढ़ने की संभावना होगी। वॉलमार्ट और अमेज़ॅन जैसे बड़े स्टोर में भी चीजों की कीमतें बढ़ सकती हैं। दुनिया की कई वस्तुओं जैसे-तेल, तांबा, सोयाबीन और सूअर के मांस का चीन सबसे बड़ा खरीदार है। इनकी बहुत कम खरीदारी के कारण इन चीजों की कीमतों में गिरावट होगी। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश सिंह/गोविन्द-hindusthansamachar.in