मिनी माता सम्मान के लिए प्रविष्टियां 18 तक
मिनी माता सम्मान के लिए प्रविष्टियां 18 तक
news

मिनी माता सम्मान के लिए प्रविष्टियां 18 तक

news

धमतरी, 14 अक्टूबर ( हि. स.)। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक महिलाओं के उत्थान के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाले राज्य की महिला/अशासकीय संस्थाओं को हर साल मिनीमाता सम्मान (महिला उत्थान) प्रदान किया जाता है। वर्ष 2020 हेतु इस सम्मान के लिए आगामी 18 अक्टूबर तक प्रविष्टि आमंत्रित की गई है, जो कि जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग को प्रस्तुत की जा सकेगी। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी एमडी नायक ने बताया कि यह प्रविष्टियां सीलबंद लिफाफे में प्रस्तुत की जाए एवं लिफाफे के ऊपर ’मिनी माता सम्मान (महिला उत्थान)’ वर्ष 2020 अंकित किया जाए। उन्होंने बताया कि निर्धारित तिथि के बाद मिले प्रविष्टियों पर विचार नहीं किया जाएगा।प्रविष्टियों में महिला/संस्था का पूरा परिचय, महिलाओं के उत्थान के लिए किए गए सेवा कार्यों की सप्रमाण विस्तृत जानकारी होनी चाहिए। साथ ही यह भी प्रमाण पत्र संलग्न करना होगा कि उपलब्धियां वास्तविक तथ्यों पर आधारित है। यदि कोई अन्य पुरस्कार प्राप्त किया हो तो उसका विवरण, उत्कृष्ट सेवा कार्य के संबंध में कोई प्रतिवेदन प्रकाशित हुआ हो, तो उसका विवरण एवं प्रकाशित प्रतिवेदन की छायाप्रतियां संलग्न करनी होंगी। महिलाओं के उत्थान के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के संबंध में प्रख्यात पत्र-पत्रिकाओं तथा संस्थाओं द्वारा की गई टिप्पणियों की छायाप्रतियां/सत्य प्रतिलिपियां तथा अन्य सुसंगत दस्तावेज, जो आवश्यक हो, प्रस्तुत करनी होगी। साथ ही चयन होने की स्थिति में पुरस्कार प्राप्ति के संबंध में आवेदक की लिखित सहमति होनी चाहिए। उल्लेखनीय है कि मिनी माता सम्मान के तहत एक महिला/संस्था को दो लाख रूपए की राशि तथा प्रशस्ति पट्टिका सम्मान स्वरूप दी जाती है। हिन्दुस्थान समाचार / रोशन-hindusthansamachar.in