भ्रष्टाचार के आरोपित तहसीलदार ने जेल में की खुदकुशी
भ्रष्टाचार के आरोपित तहसीलदार ने जेल में की खुदकुशी
news

भ्रष्टाचार के आरोपित तहसीलदार ने जेल में की खुदकुशी

news

हैदराबाद (तेलंगाना), 14 अक्टूबर (हि.स.)। केसरा के निलंबित तहसीलदार नागराज ने हैदराबाद की चंचलगुदा जेल में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उन्हें हाल ही में भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने गिरफ्तार किया था। वह एक करोड़ 10 लाख रुपये की रिश्वत लेने के मामले के आरोपित थे। पुलिस उनकी मौत के मामले की जांच कर रही है। एसीबी इस भ्रष्टाचार मामले की करीब दो महीने से जांच कर रही है। फर्जी पास बुक जारी करने को लेकर एसीबी ने मंगलवार को दूसरी बार हिरासत में लेकर केसरा के पूर्व तहसीलदार नागराज से पूछताछ की थी। आरोप है कि तहसीलदार ने एक रियल एस्टेट ब्रोकर कंदादी धर्मारेड्डी और उसके परिवार व अन्य सदस्यों को करीब 24 एकड़ जमीन जालसाजी कर के आवंटित की थी। बदले में नागराज ने 1.10 करोड़ की नकद रिश्वत ली थी। उसी समय भ्रष्टाचार निवारण की टीम ने तहसीलदार को पकड़ लिया था। नागराज करीब 15 साल पहले बतौर टाइपिस्ट तेलंगाना के राजस्व विभाग में नियुक्त हुए थे।बाद में वह केसरा के तहसीलदार नियुक्त किए गए। हैदराबाद के दो स्वयंसेवी संगठनों ने नागराज को एक करोड़ से ज्यादा की रिश्वत लेने के मामले में गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में इनका नाम दर्ज करने का अनुरोध किया था। हिन्दुस्थान समाचार/नागराज/बच्चन-hindusthansamachar.in