बोल्शेविक-क्रांति-में-लेनिन-की-भूमिका-और-वर्तमान-परिप्रेक्ष्य-प्रासंगिकता |बोल्शेविक क्रांति लेनिन भूमिका परिप्रेक्ष्य प्रासंगिकता Hindi Latest News 

Breaking News

बड़ी खबरें

बोल्शेविक क्रांति में लेनिन की भूमिका और वर्तमान परिप्रेक्ष्य में क्रांति की प्रासंगिकता

बोल्शेविक क्रांति में लेनिन की भूमिका और वर्तमान परिप्रेक्ष्य में क्रांति की प्रासंगिकता

सत्ता के खिलाफ संघर्ष के लिए जो लोग खड़े हुए थे उनमें गरीब किसान सैनिक और मजदूर शामिल थे इस तरह यह गरीब किसानों की क्रांति थी श्रमिकों में अधिकांश वैसे लोग थे जो अर्ध-किसान थे इस पृष्ठभूमि में क्रांति से संबंधित बौद्धिक वर्ग ने भविष्य के समाज की संकल्पना समाजवादी रूप में की लेनिन की इसमें अहम भूमिका थी पाॅल ली ब्लांक ने वर्ष 1989 में ‘लेनिन ऐंड दि रिवोल्यूशनरी पार्टी’ लिखी उनका मानना है कि लेनिनवाद ने पूंजीवाद को खारिज करने के लिए जागरूकता फैलाने का काम किया पार्टी को लेकर भी अलग-अलग वक्त पर लेनिन की राय अलग रही समय के साथ इसमें बदलाव होते रहे बोल्शेविक क्रांति का इतिहास
www.prabhatkhabar.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

www.prabhatkhabar.com से अधिक समाचार