आखिर क्यों बिहार के लोग दशकों से पलायन को हैं मजबूर Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

आखिर क्यों बिहार के लोग दशकों से पलायन को हैं मजबूर?

आखिर क्यों बिहार के लोग दशकों से पलायन को हैं मजबूर?

इतिहास के प्रोफेसर सज्जाद 1973 में सच्चिदानंद सिन्हा की आई किताब ‘द इंटरनल कॉलोनी (आंतरिक उपनिवेश)’ का जिक्र करते हुए कहते हैं ”भारत की पूंजीवादी शक्तियों ने बिहार को आंतरिक उपनिवेश बनाकर रखा उन्होंने बिहार को बैकवर्ड रखो इस सिद्धांत पर काम किया ताकि यहां से उन्हें सस्ता मजदूर मिलता रहे ... क्लिक »

ubindianews.com

अन्य सम्बन्धित समाचार