पान-की-खेती-बनारस-के-करीबी-जिलों-में-ही-नहीं-जमा-पा-रही-रंग |पान खेती बनारस करीबी जिल रंग Hindi Latest News 


बड़ी खबरें

पान की खेती बनारस के करीबी जिलों में ही नहीं जमा पा रही रंग

पान की खेती बनारस के करीबी जिलों में ही नहीं जमा पा रही रंग

 लोगों का होठ लाल करने वाले पान के किसान तंगहाली में दिन काटने को अब मजबूर हैं। प्रकृति की मार व रोग के चलते पिछले कई साल से पानी की फसल बर्बाद हो जा रही है। मजबूर युवा पीढ़ी पान की खेती से मुंह मोड़कर महानगरों की ओर रुख कर रही है। वैसे तो बनारसी पान दुनिया भर में अपनी पहचान रखता है मगर पान की खेती बनारस के आसपास के जिलों में ही की जाती है। मगर अब लागत के सापेक्ष मुनाफा कम होने की वजह से किसान इससे दूर भी हो रहे हैं। हालांकि कुछ किसान अब भी इससे जुड़े हुए हैं।धूप-छांव में पुआल सरपत बांस के सहारे बनी पनवाड़ी में किसान पान की खेती करते हैं। बांस के ढांचे पर सरई और पुआल की छत डाली जाती
www.vtnewsindia.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »