पानी का नाला खोलने के विवाद पर भारतीय व नेपाली नागरिकों में तनातनी
पानी का नाला खोलने के विवाद पर भारतीय व नेपाली नागरिकों में तनातनी
news

पानी का नाला खोलने के विवाद पर भारतीय व नेपाली नागरिकों में तनातनी

news

बेतिया, 14 जून (हि.स.)l इंडो-नेपाल सीमा के भिखनाठोरी बोर्डर पर बंद नाले को खोलने को लेकर रविवार की दोपहर दोनो देशों के नागरिक आमने सामने हो गये। हालांकि एसएसबी जवान, थानाध्यक्ष धनञ्जय कुमार सिंह, मुखिया सुनील कुमार गढ़वाल व रामबिहारी महतो आदि ने उन्हें समझाकर वापस एसएसबी कैंप लाया। धमौरा पंचायत के एकवा, परसौनी, भवानीपुर, खैरटीया, सेम्मुपुर सहित आधे दर्जन से अधिक गांवों के लोग लाठी, डण्डे, कुदाल आदि लेकर तीसरे नाले के पास पहुंच गये। तो उधर सैकड़ों नेपाली नागरिकों का भी हथियार के साथ विवादित स्थल के जमावड़ा होने लगा। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि वहां की स्थिति गंभीर हो गयी थी और दोनों देशों के नागरिक मामले को हिंसक रुप देने के लिए आतुर थे। सीमा पर की स्थिति की जानकारी मिलते ही दोपहर बाद एसडीएम चंदन कुमार चौहान, एसडीएम सूर्यकांत चौबे, बीडीओ हरिमोहन कुमार, सीओ राजीव रंजन कुमार श्रीवास्तव सीमा पर पहुंचे और एसएसबी कैंप में एसएसबी डिप्टी कमांडेट शैलेश कुमार तथा बीओपी इंस्पेक्टर प्रमीत कुमार के साथ पानी विवाद व सीमा की स्थिति को लेकर विचार विमर्श किया। एसडीएम चौहान ने बताया कि स्थानीय स्तर पर इस विवाद का समाधान कतई संभव नहीं है। इसके समाधान के लिए उच्च स्तर पर प्रयास किये जा रहे हैं। ऐसे में बेवजह विवाद करना किसी के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि इस विवाद के स्थायी समाधान के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। हर हाल में नाला खोलना चाहते हैं ग्रामीण धमौरा व जमुनिया पंचायत के ग्रामीण हर हाल में इस नाले को खुलवाने की जिद पर अड़े हुए हैं। जबकि नेपाली नागरिक किसी भी कीमत पर तीसरे नाले को नही खोलने देने पर अड़े हैं। हिंदुस्थान समाचार / अमानुल हक/चंदा-hindusthansamachar.in