छत्‍तीसगढ : नवागढ़ की महिला स्व-सहायता समूह बना रही है गोबर मिश्रित आकर्षक दीया
छत्‍तीसगढ : नवागढ़ की महिला स्व-सहायता समूह बना रही है गोबर मिश्रित आकर्षक दीया
news

छत्‍तीसगढ : नवागढ़ की महिला स्व-सहायता समूह बना रही है गोबर मिश्रित आकर्षक दीया

news

बेमेतरा, 15 अक्टूबर (हि.स.) । रोशनी के पर्व दीवाली पर महिला स्व-सहायता समूह द्वारा प्रकाश बिखेरने की तैयारी की जा रही है। छत्तीसगढ़ के गोबर से बने दिए और वंदनवार त्यौहार में गोबर से बने दियों और डेकोरेटिव आइटम्स से सजाइये अपना घर आंगन। गाँव के साथ-साथ अब शहरों में महिलाएं भी यह कार्य कर रही है। गोबर से विभिन्न सामग्रियां सब सीखें और सब बढ़ें इस भावना को लेकर महिलाएं आगे बढ़ रही और प्रशिक्षण दे रहीं हैं। हमारे जिले के बने गोबर के दिए और वंदन वार अब स्थानीय बाजार में जल्द ही पहुंचने लगेंगे। नगर पंचायत नवागढ़ की सफाई दीदियों द्वारा निर्मित गोबर से बनी दीया जब दीवाली पर्व पर घर आंगन में गोबर के दिए रोशन होंगे तो अपनी संस्कृति से जुड़ाव भी महसूस होगा। नगरीय निकायों में भी महिलाओं ने प्रशिक्षण प्राप्त किया और त्यौहार के लिए दिए और अन्य सजावटी सामान बना रहीं है। कहते हैं जहां चाह वहाँ राह। यही कहानी है नगर पंचायत नवागढ़ केे सफाई दीदी स्व. सहायता समूह महिलाओं ने प्रदेश सरकार की नरवा गरूवा घुरूवा बाड़ी ,गोधन न्याय योजना के बारे में सोशल मीडिया पर देखा और अखबारों में पढ़ा तो उनको भी रुचि उत्पन्न हुई कि घर पर बैठकर भी आमदनी अर्जित कर सकती हैं। मुख्यमंत्री ने गौठानों को रोजगार ठौर के रूप में विकसित करने की भी घोषणा की है तो क्यों न हम महिलाएं भी स्वावलंबन की दिशा में कदम बढ़ाएं। राज्य शासन की पहल से गोबर के बहु आयामी उपयोग की राह खुली। हिन्दुस्थान समाचार / गोपाल शर्मा / गेवेन्द्र-hindusthansamachar.in