चिटफण्ड जमाकर्ताओं के धन वापसी हेतु मोंगरापाल की सम्पति हुई कुर्क
चिटफण्ड जमाकर्ताओं के धन वापसी हेतु मोंगरापाल की सम्पति हुई कुर्क
news

चिटफण्ड जमाकर्ताओं के धन वापसी हेतु मोंगरापाल की सम्पति हुई कुर्क

news

जगदलपुर, 22 सितम्बर(हि.स.)। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल द्वारा जिला बस्तर के तहसील व राजस्व निरीक्षक मंडल बकावण्ड, ग्राम मोंगरापाल प.ह.नं. 19 में अनमोल इंडिया एग्रो फार्मिक डेरिज कंपनी के नाम पर स्थित खसरा नंबर खसरा नंबर 538 रकबा 1.250, खसरा नंबर 552 रकबा 2.000हेक्टेयर में कुल रकबा 3.250 हेक्टेयर सम्पति को छत्तीसगढ़ के निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम 2005 के अन्तर्गत जमाकर्ताओं के धनवापसी हेतु सम्पति कुर्क घोषित किया है। प्राप्त जानकारी अनुसार कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जिला सरगुजा के साथ जिला सरगुजा पुलिस अधीक्षक के द्वारा लेख किया गया था कि आवेदक महाजन दास पिता बरन दास उम्र 30 वर्ष निवासी कोरिमा थाना धौरपुर के द्वारा अनमोल इंडिया एग्रोफार्मिक डेरिज कंपनी के विरूद्व आवेदन प्रस्तुत की गई जिसकी जांच कर थानाधौरपुर में अपराध व छग निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम की धारा 10ईनाम चिटफण्ड पर पाबंदी अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है, जिसके डायरेक्टर मोहम्मद जावेद मेमन, जुनैद मेमन, खालिद मेमन, निलफौरबानो पति जनैद मेमन, नदिया बानो पति खालिद मेमन, सुपरा मेमन पति जावेद मेमन, हाजी उमर मेमन हैं। विवेचना के दौरान अनमोल इंडिया एग्रो फार्मिक डेरिज कंपनी के नाम जिला बस्तर के ग्राम मोंगरापाल मे संपत्ति खसरा नंबर 538रकबा 1.250, खसरा नंबर 552 रकबा 2.000 हेक्टेयर होना पाया गया है।छत्तीसगढ़ निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम की धारा 07 के प्रावधानोंके तहत उपरोक्त कंपनी व व्यक्तियों (डायरेक्टर्स) के नाम की संपत्ति को कुर्क किया जाना था इसी परिपेक्ष में जिला दण्डाधिकारी बस्तर के द्वारा कार्यवाही की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/ राकेश पांडे-hindusthansamachar.in