चिटफंड कंपनियों से पैसे वापसी के लिए अभिकर्ता-उपभोक्ता संघ ने दिया धरना
चिटफंड कंपनियों से पैसे वापसी के लिए अभिकर्ता-उपभोक्ता संघ ने दिया धरना
news

चिटफंड कंपनियों से पैसे वापसी के लिए अभिकर्ता-उपभोक्ता संघ ने दिया धरना

news

बीजापुर, 17 सितम्बर (हि.स.)। जिले में चिटफंड कंपनियों में फसे पैसे वापसी को लेकर छग अभिकर्ता उपभोक्ता संघ ने गुरुवार को धरना प्रदर्शन कर राज्यपाल व मुख्यमंत्री के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में सरकार के चुनावी वादे को याद दिलाते हुए निवेशकों के पैसे वापस दिलाने की मांग की गई। अभिकर्ता उपभोक्ता संघ के जिलाध्यक्ष सुरेश अंगमपल्ली का कहना है कि प्रदेश में 1 लाख 05 हजार अभिकर्ता व 20 लाख निवेशक है। जिनका पैसा चिटफंड कंपनियों में लगभग 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश है।निवेशकों को उनके पैसे लौटाने वर्ष 2015 से अभिकर्ता उपभोक्ता संघ आंदोलनरत है। सत्ता में आने से पहले प्रदेश सरकार ने अपने घोषणा पत्र में कहा था कि सरकार आते ही चिटफंड कंपनियों में फंसे निवेशकों के पैसे उन्हें वापस दिलाने उचित कदम उठाए जाएंगे। कांग्रेस सरकार सत्ता में आई दो साल पूरे हो चुके हैं, बावजूद निवेशकों को उनकी गाढ़ी कमाई नहीं लौटाई गई है और ना ही सरकार ने इस दिशा में कोई कदम उठाया है। उन्होने कहा कि अकेले बीजापुर जिले में 10 हजार से अधिक निवेशकों के बीस करोड़ों रुपये फंसे हुए हैं। यह एचबीएन,एनआईसीएल, सनसाइन इंफ्राबिल्ड कारपोरेशन, साईं प्रसाद, गोल्ड बीएनपी इंडिया, पीएसीएल इंडिया लिमिटेड, एसपीएनजे प्रकाश इंडिया लिमिटेड नाम से कंपनियां थी। सरकार और प्रशासन की नाकामी के चलते सैकड़ों बेरोजगार इन कंपनियों के झांसे में आ गए थे। रोजगार के नाम पर अभिकर्ताओं के रूप में निवेशकों से उनका विश्वास हासिल कर पैसे कंपनियों में निवेश कराए गए थे। जिसे समयावधि पूरा होने के बाद भी नहीं लौटाए गए। धरना प्रदर्शन के दौरान उपाध्यक्ष सुरेश वरगेम, प्रमुख सलाहकार हेमन्त दुर्गम, सचिव आनन्द झाड़ी, कोषाध्यक्ष श्याम लाल, सहसचिव सोनू पोट्टम, सदस्य प्रभारी लछुराम, अरसा समेत समस्त अभिकर्ता व निवेशक मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे-hindusthansamachar.in