चिटफंड कंपनियों में जमा पूंजी वापस दिलाने पीड़ित निवेशकों ने किया प्रदर्शन छत्तीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता सेवा जिला धमतरी ने बिलाई माता मंदिर के पास प्रदर्शन कर शासन का ध्यान खींचा
चिटफंड कंपनियों में जमा पूंजी वापस दिलाने पीड़ित निवेशकों ने किया प्रदर्शन छत्तीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता सेवा जिला धमतरी ने बिलाई माता मंदिर के पास प्रदर्शन कर शासन का ध्यान खींचा
news

चिटफंड कंपनियों में जमा पूंजी वापस दिलाने पीड़ित निवेशकों ने किया प्रदर्शन छत्तीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता सेवा जिला धमतरी ने बिलाई माता मंदिर के पास प्रदर्शन कर शासन का ध्यान खींचा

news

धमतरी, 15 सितंबर ( हि. स.)। चिटफंड कंपनियों से पीड़ित निवेशकों की जमा पूंजी तत्काल वापस दिलाने की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता सेवा जिला धमतरी ने 15 सितंबर को बिलाई माता मंदिर के पास राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। छत्तीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता सेवा संघ जिला धमतरी के धरना प्रदर्शन में लगभग 200 लोग शामिल हुए। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए संघ के प्रदेश अध्यक्ष गगन कुंभकार ने कहा कि प्रदेश के हजारों लोगों की मेहनत की गाढ़ी कमाई का एक हिस्सा चिटफंड कंपनियों में जमा है। इस राशि को दिलाने के लिए राज्य शासन ने चुनाव के दौरान वायदा किया था कि सत्ता में आते ही चिटफंड कंपनियों से लोगों का पैसा दिलाएंगे, लेकिन अब तक राशि अप्राप्त है। कोरोना संकट के दौर में सभी को रुपयों की सख्त जरूरत है। ऐसी स्थिति में यदि राशि मिल जाती है तो लोगों को राहत मिलेगी। बार-बार मांग किए जाने के बाद भी हमारी राशि हमें प्राप्त नहीं हो पा रही है। जल्द से जल्द चिटफंड कंपनियों से पैसा दिलाया जाए। प्रदेश उपाध्यक्ष राजेश सारथी ने कहा कि जन घोषणा पत्र क्रमांक 34 के अनुसार चिटफंड कंपनियों से राशि दिलाने का वायदा अब तक पूरा नहीं किया गया। मांग पूरी नहीं होने के कारण हमें बार-बार पद्रर्शन करना पड़ रहा है। प्रदर्शन में धमतरी जिले के अलावा आसपास के जिलों से भी पीड़ित निवेशक पहुंचे। अंत में पीड़ित निवेशकों की जमा पूंजी तत्काल वापसी के संबंध में नायब तहसीलदार राहुल शर्मा को को राज्यपाल व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से प्रदेश अध्यक्ष गगन कुंभकार, प्रदेश सचिव ईश्वर पटेल, प्रदेश कार्यकारिणी मनोज प्रजापति, परमानंद साहू, नगरी ब्लॉक अध्यक्ष रामाधीन साहू, सचिव चंदन साहू, सलाहकार रोशन साहू, मायाराम पटेल, संतोष साहू, महिला प्रकोष्ठ चेतना बिसेन, उर्मिला साहू, चेतन कुंभकार, नोहर देवांगन, धर्मेंद्र देवांगन, आत्माराम प्रजापति, जन्मेजय साहू साकरा, राधेश्याम नेताम, अमर लाल गुप्ता, संतराम साहू, रेख राज साहू, चंद्रभान साहू, जगदीश साहू, विष्णु भास्कर सहित काफी संख्या में निवेशक एवं अभिकर्ता उपस्थित थे। जिले में संचालित थी 16 कंपनियां मालूम हो कि धमतरी जिले में 16 कंपनियां प्रमुख रूप से संचालित थी। जिसमें लगभग 37 अरब रुपये की धोखाधड़ी की गई है। पूरे प्रदेश में 195 कंपनियों के माध्यम से अनुमानित 10,000 करोड़ की धोखाधड़ी इन चिटफंड कंपनियों द्वारा की गई है। हिन्दुस्थान समाचार / रोशन-hindusthansamachar.in