गन्ना समितियों को बनाया जाएगा जवाबदेह, किसानों को मिलेंगे शेयर प्रमाण पत्र
गन्ना समितियों को बनाया जाएगा जवाबदेह, किसानों को मिलेंगे शेयर प्रमाण पत्र
news

गन्ना समितियों को बनाया जाएगा जवाबदेह, किसानों को मिलेंगे शेयर प्रमाण पत्र

news

मेरठ, 20 जून (हि.स.)। प्रदेश के गन्ना व चीनी आयुक्त संजय आर भूसरेड्डी ने गन्ना विकास समितियों की कार्यप्रणाली को पारदर्शी बनाने और उन्हें जवाबदेह बनाने की पहल की है। समितियों के अंशधारक किसानों को शेयर प्रमाण पत्र जारी किए जाएंगे। मेरठ परिक्षेत्र के उप गन्ना आयुक्त राजेश मिश्र ने शनिवार को बताया कि प्रदेश के गन्ना व चीनी आयुक्त संजय आर भूसरेड्डी ने गन्ना समितियों के पारदर्शी प्रशासन के अन्तर्गत सभी पंजीकृत अंशधारक किसानों को शेयर प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश दिए हैं। इसके आधार पर चीनी मिल समितियों द्वारा 80 प्रतिशत अंशधारक कृषक सदस्यों को अंश प्रमाण पत्र का वितरण किया गया है। इन अंश प्रमाण पत्रों का लेखा-जोखा रखने के लिये शेयर अंश फीडिंग की व्यवस्था विभागीय ईआरपी पर भी कराने के लिए माॅड्यूल विकसित कराए गए हैं। इस कार्य को भी 77 प्रतिशत पूरा किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि सभी नियमित सदस्यों को शेयर प्रमाण-पत्र जारी किए जाएंगे। प्रदेश की सभी 169 गन्ना समितियों में 56.73 लाख पंजीकृत सदस्यों में से 52.96 लाख शेयर धारक सदस्य है, जिनके द्वारा 113.20 करोड़ रुपए का अंष्श जमा किया गया है। इनमें से 40.71 लाख शेयर धारक सदस्यों के 81.07 करोड़ रुपए के शेयर अंश का फीडिंग कार्य पूर्ण हो चुका है जो कि 77 प्रतिशत है। इनका वितरण शीघ्र ही प्रारम्भ हो जायेगा। प्रदेश की सभी 24 चीनी मिल समितियों कुल अंशधारकों की संख्या 11.28 लाख है, जिनके द्वारा कुल 160.53 करोड़ रुपए अंश धन जमा किया गया है। इनमे से 9.05 लाख सदस्यों को 118.26 करोड़ रुपए के अंश प्रमाण पत्रों का वितरण किसानों को किया जा चुका है। जल्दी ही सभी किसानों को अंश प्रमाण पत्रों का वितरण कर दिया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप/उपेन्द्र-hindusthansamachar.in